Published On : Tue, Sep 6th, 2016

रामदेवबाबा मंदिर: १८० किलो फिटकरी से बनी गणेशजी की मूर्ति

Advertisement

Fitkari Ganpati at Ramdeobaba Temple
नागपुर: काटोल रोड स्थित रामदेवबाबा मंदिर में प्रत्येक वर्ष रामदेवबाबा इंजीनियरिंग कॉलेज के होस्टलों में रहने वाले विद्यार्थियों के लिए गणेशोत्सव के दौरान दस दिनों के लिए गणेशजी की मूर्ति की स्थापना की जाती है। गणेशजी की मूर्ति “इको फ्रेंडली” हो इसके लिए मंदिर सह महाविद्यालय प्रबंधन निरंतर प्रयासरत थे। पिछले तीन साल से फिटकरी की मूर्ति निर्माण करने के लिए काफी प्रयास किये जा रहे थे, जिसे इस वर्ष पूर्ण सफलता मिली।

फिटकरी की मूर्ति की संकल्पना महाविद्यालय प्रबंधन में बतौर क़ानूनी सलाहकार अधिवक्ता प्रदीप अग्रवाल ने जानकारी देते हुए बताया कि मानेवाड़ा स्थित शिवानी आर्ट और भंडारा के फिटकरी निर्माता की मदद से उक्त मूर्ति तैयार की गई है। अधिवक्ता अग्रवाल के अनुसार रामदेवबाबा मंदिर में स्थापित फिटकरी की मूर्ति का वजन १०० किलो और उसका आधार ८० किलो का है। वह भी सम्पूर्ण फिटकरी का है।

शिवानी आर्ट ने अधिवक्ता अग्रवाल के संकल्पना के अनुसार गणेशजी की मूर्ति का सांचा निर्माण करके दिया। इस सांचे के निर्माण में १५००० रूपए मात्र खर्च आये और भंडारा के एक फिटकरी निर्माता ने १८० किलो फिटकरी निशुल्क रूप से प्रोत्साहन के तौर पर दी। सांचे में फिटकरी को डालने के लिए १२० डिग्री पर फिटकरी को गर्म किया जाता है। वैसे फिटकरी का निर्माण भी गर्म कर किया जाता है, फिर विभिन्न सांचे में डाला जाता है।

Advertisement
Advertisement

अग्रवाल ने आगे बताया कि भविष्य में एक ही सांचे से १० से १५ मूर्तियों का निर्माण किया जायेगा और अगले वर्ष से फिटकरी की मूर्ति के मांगकर्ता को “न नफा और न नुकसान” के आधार पर फिटकरी की गणेशजी की मूर्ति उपलब्ध करवाने का उद्देश्य है।

इसका विसर्जन फुटाला तालाब में किया जायेगा। इस फिटकरी के मूर्ति को फुटाला तालाब में विसर्जन करने से जल व पर्यावरण प्रदूषित नहीं होगा।

 – राजीव रंजन कुशवाहा

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement