Published On : Sat, Oct 7th, 2017

“कमाओ और पढ़ो” योजना में सौ विद्यार्थी रह गए काम से वंचित

Nagpur University
नागपुर: राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय की ओर से संचालित योजना ” कमाओ और पढ़ो ” के तहत 195 विद्यार्थियों ने इसके लिए आवेदन किया था. लेकिन इनमें से केवल 73 विद्यार्थियों को ही चुना गया है. उनको शनिवार 7 अक्टूबर से विभागों में भेजा गया है. पिछले वर्ष इसी योजना के तहत 105 विद्यार्थी नागपुर यूनिवर्सिटी के तहत आनेवाले विभिन्न विभागों में काम कर रहे थे.

इस वर्ष विद्यार्थियों की मांग थी कि ज्यादा से ज्यादा विद्यार्थियों को इस योजना में शामिल किया जाए. लेकिन नागपुर यूनिवर्सिटी ने इस बार पिछले वर्ष से भी कम विद्यार्थियों को इसमें शामिल किया है. सभी चुने गए विद्यार्थियों के नाम नागपुर यूनिवर्सिटी ने अपने वेबसाइट में डाले हैं. नागपुर यूनिवर्सिटी ने दावा किया था कि इस बार सितम्बर महीने से ही विद्यार्थियों को काम पर लिया जाएगा. लेकिन यूनिवर्सिटी का यह दावा भी फेल हो गया क्योंकि इनको अक्टूबर महीने से काम पर लिया गया.

” कमाओ और पढ़ो ” के तहत नागपुर यूनिवर्सिटी का कहना है कि जो विद्यार्थी इसके लिए पात्र थे. उन्हें ही इस बार मौका दिया गया है. इस योजना के तहत कई विद्यार्थियों ने गलत आवेदन किया था. जिसके कारण भी उनका चयन नहीं किया गया. जिसके कारण विद्यार्थियों को बताया गया है कि वे इस सुधारित आवेदन एक बार फिर करें.

खासबात यह है कि अब केवल 22 विद्यार्थियों को ही इस योजना में शामिल किया जाएगा. यानी इस वर्ष में केवल 95 विद्यार्थियों को ही नागपुर यूनिवर्सिटी काम देगी. बाकी 100 विद्यार्थियों को इस बार काम नहीं मिलेगा. जानकारी के अनुसार पुणे विश्वविद्यालय में जितने भी आवेदन आते है उन सभी को काम पर रखा जाता है. लेकिन नागपुर यूनिवर्सिटी में इसके लिए भी प्रक्रिया होती है. इस योजना के तहत विद्यार्थियों को 3 घंटे के लिए 150 रुपए रोजाना दिए जाते हैं. लेकिन इस बार करीब 100 विद्यार्थियों को इस योजना से दूर रखने का कार्य नागपुर यूनिवर्सिटी ने किया है.

इस बारे में नागपुर विश्वविद्यालय के विद्यार्थी विकास विभाग के संचालक दिलीप कवडकर ने बताया कि अभी तक कुल 73 विद्यार्थियों का चयन किया गया है. कई विद्यार्थियों के आवेदन रिजेक्ट किए गए हैं, क्योंकि इस योजना में शामिल होने के लिए वे काबिल नहीं थे. आनेवाले दिनों में और 22 विद्यार्थियों को लिया जाएगा.