Published On : Sat, Nov 22nd, 2014

वाशिम : तकनीकि खराबी के कारण स्वास्थ्य देयक अटके!

Advertisement


विदर्भ माध्यमिक शिक्षक संघ की पहल पर प्रशासन ने दिया समस्या सुलझाने का आश्वासन

वाशिम। माध्यमिक व उच्च माध्यमिक शिक्षकों के वेतन नियमित करने के लिए बनायी गई संगणीकृत प्रणाली में आयी तकनीकी खराबी के कारण वाशिम जिले के सैकड़ों शिक्षक व शिक्षकेतर कर्मचारियों के स्वास्थ्य मुआवजा देयक लंबित पड़े हैं. इसके लिए विदर्भ माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रातीय अध्यक्ष व पूर्व आमदार वसंतराव खोटरे व पदाधिकारियों द्वारा मामले को उठाने के बाद अब सैकड़ों स्वास्थ्य मुआवजा देयक प्रकरण सुलझने का साफ हो गया  है. शिक्षा विभाग राज्यभर के शिक्षकों के वेतन नियमित हो उसके लिए संगणीकृत प्रणाली विकसित की थी, पर प्रणाली विकसित करने वाली कम्पनी सॉफ्टवेयर में स्वास्थ्य मुआवजा देयक व लम्बित देयक निकालने के लिए ऑप्शन नहीं रखा. इस तांत्रिक गड़बड़ी के कारण देयक निकालने वाले अधिकारी व कर्मचारियों ने अपनी समस्या से अवगत कराया. इस कारण जिले के सैकड़ों शिक्षक व शिक्षकेतर कर्मचारी के देयक साल भर से लंबित पड़ी हुई हैं. यह सवाल विदर्भ माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रांतीय अध्यक्ष व पूर्व विधायक वसंतराव खोटरे के मार्गदर्शन में जिला अध्यक्ष बालासाहेब गोटे, जिला कार्याध्यक्ष विनायक उज्जैनकर, मुख्याध्यापक संघ के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य मंगेश धानोरकर, शिक्षकेतर संघ के जिलाध्यक्ष अविनाश पसारकर, मुख्याध्यापक संघ के जिलाध्यक्ष अशोक ठाकरे, कार्यवाहक अनन्त कुमार सुपनर, उपाध्यक्ष अनिल कराले के साथ सभी जिला व तालुका पदाधिकारियों ने संबंधित अधिकारियों ने सिफारिश की. परिणामस्वरूप अब प्रलंबित स्वास्थ्य देयक तत्काल व्यक्तिगत तौर पर निकालने का आश्वासन संबंधित अधिकारी ने दिया.

24 को विमाशिसं व शिक्षणाधिकारी की सभा
जिले के माध्यमिक व उच्च माध्यमिक शिक्षक व शिक्षकेतर कर्मचारियों की प्रलंबित मांगें व समस्या के निवारण के लिए विदर्भ माध्यमिक शिक्षक संघ के पदाधिकारी व माध्यमिक शिक्षणाधिकारी के साथ विचार सभा का आयोजन सोमवार 24 नवम्बर को दोपहर 1 बजे किया गया है. इस अवसर पर विधायक वसंतराव खोटरे, विकास सावरकर, माध्यमिक शिक्षणाधिकारी तेलगोटे प्रमुखता से उपस्थित रहेंगे. सभा में 23 अक्टूबर 2013 के शासन निर्णय के संदर्भ में चर्चा, शिक्षक व शिक्षकेतर के वेतन, स्वास्थ्य मुआवजा देयक प्रकरण, भविष्य निर्वाह निधि प्रकरण, वरिष्ठ व चुनाव प्रकरण, सेवानिवृत्ति, नगर परिषद, जिला परिषद व आश्रमशाला शिक्षकों की समस्याओं पर सविस्तार चर्चा की जाएगी. यह जानकारी संघ के जिलाध्यक्ष बालासाहेब गोटे, कार्याध्यक्ष विनायक उज्जैनकर, कार्यवाहन अनन्त सुपनर ने यहां जारी एक विज्ञप्ति में दी है.
Delay

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement