Published On : Sat, Mar 3rd, 2018

नागपुर यूनिवर्सिटी लाइब्रेरी के विद्यार्थियों को पुलिस उपायुक्त डॉ. नीलेश भरणे ने किया मार्गदर्शन

Nilesh Bharne
नागपुर: स्पर्धा परीक्षा में पास होने के लिए कठिन परिश्रम करना साथ ही समय का नियोजन कर ज्ञान प्राप्त करने के लिए विशेषांक और स्पेशल इश्यूज पढ़ना जरूरी है. यह सलाह पुलिस उपायुक्त डॉ. नीलेश भरणे ने राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज नागपुर यूनिवर्सिटी के रामदासपेठ के ज्ञान स्रोत केंद्र के लाइब्रेरी में स्पर्धा परीक्षाओं की तैयारी करनेवाले विद्यार्थियों को मार्गदर्शन के दौरान दी. इस दौरान यूनिवर्सिटी के कुलसचिव डॉ. पूरनचंद्र मेश्राम, उपकुलसचिव डॉ. अनिल हिरेखन व ज्ञान स्रोत केंद्र के संचालक डॉ. किशोर काले मंच पर मौजूद थे.

उपायुक्त भरणे ने मौजूद विद्यार्थियों से कहा कि यूनिवर्सिटी के इसी लाइब्रेरी में उन्होंने लगभग 2 वर्षों तक यूपीएससी की तैयारी की और 2005 में वे आईपीएस बने. जिसके कारण लाइब्रेरी के विद्यार्थियों का मार्गदर्शन करने में उन्हें काफी अच्छा लग रहा है. उन्होंने बताया कि यूपीएससी की तैयारी करते समय विद्यार्थियों को एनसीईआरटी की किताबों को पढ़ना चाहिए, साथ ही खुद के नोट्स बनाने चाहिए, जिस परीक्षा में हमें बैठना हो उसकी किताबों की सूची तैयार करें, उसकी उस परीक्षा की आवश्यकता क्या है यह ध्यान में रखना चाहिए. साथ ही टेस्ट सीरीज भी पढ़नी चाहिए और स्पर्धा परीक्षा के साथ साथ विद्याविषयक पढ़ाई भी करनी चाहिए. इंटरव्यू किस तरह से दिए जाए इस पर भी विद्यार्थियों का मार्गदर्शन किया .

इस दौरान कुलसचिव पूरनचंद्र मेश्राम ने विद्यार्थियों से कहा कि यूनिवर्सिटी के लाइब्रेरी में यूनिवर्सिटी ने करीब 5 लाख रुपए की स्पर्धा परीक्षा की किताबें खरीदी हैं. विद्यार्थी उसका लाभ लें और बाकी कामों में समय का नुक्सान न करते हुए पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित करें. कार्यक्रम का संचालन यूनिवर्सिटी के उपकुलसचिव डॉ. अनिल हिरेखन ने किया और आभार प्रदर्शन किशोर काले ने किया. इस दौरान बड़ी तादाद में विद्यार्थी मौजूद थे.