Published On : Sun, Sep 16th, 2018

केवल घर नहीं शहर को रखें स्वच्छ

नागपुर: हर व्यक्ति अपना घर स्वच्छ रखना चाहता और रखता भी है. अपने शहर को भी घर समझना जरूरी है. यदि इस मानसिकता के साथ लोग शहर को स्वच्छ बनाने का काम करेंगे तो हमारा नाम रोशन होगा. पुलिस विभाग और मैत्री परिवार की ओर से गणेशोत्सव के दौरान स्वच्छता जागरूकता अभियान की शुरुआत की गई. महात्मा गांधी जयंती के निमित्त यह अभियान चलाया जाएगा.

Advertisement

शनिवार को इस उपक्रम का उद्घाटन पुलिस कमिश्नर भूषणकुमार उपाध्याय के हाथों एन-कॉप्स एक्सीलेंस में किया गया. गणेश मंडलों से इस उपक्रम को आगे बढ़ाने की अपील उपाध्याय ने की. कार्यक्रम में ज्वाइंट सीपी रवींद्र कदम, मैत्री परिवार संस्था के प्रा. प्रमोद पेंडके, जनकल्याण समिति के प्रमुख डा. दिलीप गुप्ता, मकरंद पांढरीपांडे और जूही पांढरीपांडे प्रमुख रूप से उपस्थित थे. उपाध्याय ने कहा कि गणेश मंडलों से लाखों लोग जुड़े रहते हैं.

Advertisement

इस उपक्रम को आगे बढ़ाने के लिए गणेशोत्सव से अच्छा मौका नहीं हो सकता. गणेश मंडल अपने पंडालों में स्वच्छता से जुड़े सूचना फलक लगाएं. अपने यहां जमा होने वाले सूखे कचरे के लिए अलग और गीले कचरे के लिए अलग डस्टबिन लगाएं. लोग स्वच्छता के प्रति जागरूक हो ऐसे संदेश है.

Advertisement

स्वच्छता मुहिम को लेकर सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित करें. स्वच्छता का ध्यान रखने वाले लोगों को पुरस्कृत किया जाए. ऐसे कई विषय हैं जिन पर स्पर्धाएं आयोजित की जा सकती है. इसी के साथ नागपुर को स्वच्छ बनाने के लिए बनाई गई शॉर्ट फिल्म का विमोचन भी किया गया. ज्वाइंट सीपी कदम ने कहा कि स्वच्छता के लिए समाज प्रबोधन होना जरूरी है.

नागरिकों को केवल अपने घर के बारे में नहीं पूरे शहर के बारे में सोचना होगा. कार्यक्रम में डीआईजी श्यामराव दिघावकर, डीसीपी नीलेश भरणे, श्वेता खेड़कर, चंदू पेंडके और बड़ी संख्या में गणेश मंडलों के पदाधिकारी भी उपस्थित थे. कार्यक्रम का संचालन और आभार प्रदर्शन सब-इंस्पेक्टर कल्पना धवने ने किया.

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement