Published On : Wed, Feb 19th, 2020

डोनाल्ड ट्रंप को बदबू न आए इसलिए यमुना में मिला रहे गंगा का पानी

नागपुर– आगरा (Agra) के ताजमहल को कौन नहीं जानता? ताजमहल (Tajmahal) की खूबसूरती की दीदार करने दुनियाभर से लोग आते हैं. लेकिन इस बार मामला कुछ खास है. इस बार इसका नजारा लेने आ रहे हैं अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump ) जाहिर है डोनाल्ड ट्रंप घूमते हुए ताजमहल के पीछे की तरफ जाएंगे, जहां यमुना (Yamuna) बहती हैं. यमुना की गंदगी की हालत पूरी दुनिया को पता है.

उससे आती हुई बदबू से लोगों की हालत खराब हो जाती है. ट्रंप को बदबू न आए, इसके लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने नया कदम उठाया है. उत्तर प्रदेश सरकार की सिंचाई विभाग ने फैसला लिया है कि वह यमुना में बुलंदशहर के गंगा नहर से 500 क्यूसेक पानी छोड़ेगा. ताकि यमुना थोड़ी साफ और बहती हुई दिखाई पड़े. पानी में बहाव बढ़ेगा तो बदबू कम होगी. ट्रंप 23 से 26 फरवरी तक भारत में रहेंगे.

उनका ज्यादातर समय दिल्ली में ही बीतेगा. लेकिन ये भी संभावना है कि ट्रंप अहमदाबाद या आगरा जा सकते हैं. इसलिए ऐसे में दोनों शहरों को चमकाया जा रहा है. उत्तर प्रदेश के सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने बताया है कि बुलंदशहर से छोड़ा गया पानी 21 फरवरी तक आगरा के यमुना नदी तक पहुंच जाएगा. इससे यमुना नदी की पर्यावरणीय स्थिति में काफी ज्यादा सुधार आने की उम्मीद है.सिंचाई विभाग का कहना है कि उसका प्रयास ये है कि 24 फरवरी तक यमुना में गंगाजल का बहाव लगातार बना रहे. इससे यमुना में घुले ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ेगी.

यमुना का पानी इससे पीने लायक तो नहीं होगा लेकिन इससे बदबू में कमी आने की पूरी संभावना है. हैरतअंगेज बात ये है कि पर्यावरण के लिए काम करने वाले विशेषज्ञों का मानना है कि गंगा का पानी यमुना में डालने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा. एक-दो दिन के लिए यमुना को थोड़ा ठीक किया जा सकता है लेकिन हमेशा के लिए नहीं.