Published On : Fri, Nov 7th, 2014

गोंदिया : रेलवे कर रही हिंदुओं की आस्था के साथ खिलवाड़ – विंध्य मुकेश शिवहरे


गोंदिया।
हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी श्री गंजवार्ड माँ वैष्णों सेवा समिती, गोंदिया के द्वारा 6 नवंबर 2014 को माँ वैष्णोदेवी माता दर्शन के लिए गोंदिया से 18 बोगियों की विशेष ट्रेन आरक्षित कर हजारों श्रद्धालुओं को ले जाया रहा था, परंतु दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के बिलासपुर जोन की लापरवाही चलते जिस विशेष ट्रेन की रैंक गोंदिया भेजी गयी, उसमें ना तो एस.एल.आर बोगी थी और ना ही पेंट्रीकार रसोइयान मौजुद था.

गौरतलब है की समिती द्वारा वैष्णोदेवी यात्रा के लिए रेल विभाग को लगभग 75 लाख रुपयों की राशि अदा कर यह ट्रेन मंगाई थी. जिसमें समिती ने सर्व सुविधायुक्त विशेष ट्रेन की मांग की थी. ट्रेन के द्वारा माता दर्शन के लिए वैष्णो देवी जानेवाले लगभग 1500 यात्री गोंदिया रेलवे स्टेशन पर पहुँच गए थे एवं रात 9 बजे के पूर्व सभी श्रद्धालुओं की ट्रेन में उपस्थिति दर्ज हो गयी थी. इस दौरान भी रेलवे अधिकारियों ने समिति को ये दर्शाया की इस ट्रेन में पेंट्रीकार रसोइयान की बजाय बफेट कार लगायी गयी है जिसमें भोजन पकाया नहीं गर्म किया जाता है. इस घटना की खबर लगते ही तत्काल पेंटीकार लगाने की मांग की.
इस घटना के दौरान सांसद नाना पटोले भी रेलवे स्टेशन पर मौजूद थे जिन्होंने अपने स्तर पर हर संभव प्रयास किया पर रेलवे के अधिकारी इसका समाधान नहीं निकाल पाए और ट्रेन को घंटो लेट करने के बाद रद्द करना पड़ा.

इस मामले पर गोंदिया जिला शिवसेना प्रमुख विंध्य मुकेश शिवहरे ने रेल विभाग की कड़ी निंदा करते हुए कहा की रेलवे अब हिन्दुओं की दुश्मन बन गयी है. अगर भाजपा के राज में हिंदुओ की आस्था के साथ खिलवाड़ कर रेलवे ने उन्हें माँ वैष्णो के दर्शन करने से अछूता रखा है.विंध्य मुकेश शिवहरे ने कहा की रेलवे को सारा रुपया देकर विशेष ट्रेन मंगवाने वाले समिती को रेल अधिकारीयों ने धोके में रखकर अपनी हिटलरशाही का परिचय दिया है. ट्रेन में असुविधा होने से पहलीबार किसी धार्मिक यात्रा को रोका गया है जिसका पूरा-पूरा दोष रेल विभाग का है.

शिवहरे ने इस मामले में संपूर्ण शिकायत रेलमंत्री भारत सरकार को भेजने की तैयारी दिखाई है तथा यह चेतावनी दी है की रेलवे हिंदुओं की भावना से खेलना छोड़ दे चूंकि ऐसी घटनाये अप्रिय जनाक्रोश का इशारा करती है.

Railway Station

File pic