Published On : Mon, Dec 29th, 2014

तिवसा : प्रसुति के लिए डॉक्टरों के पास नहीं समय, नर्स करती है प्रसुति !

 

  • श्री गुरुदेव आयुर्वेद अस्पताल का कार्यभार ठप्प
  • आरोग्य विभाग प्रमुख की अस्पताल की ओर अनदेखी
  • प्रसुतितज्ञ डॉ. माधुरी भोयर पर कार्रवाई नहीं हुयी तो आंदोलन

Shree Gurudev Ayurved Hospital Mojhari
तिवसा (अमरावती)।
विगत अनेक वर्षों से सर्वसामन्य गरीब जनता की सेवा में गुरुकुंज मोझरी में श्री गुरुदेव आयुर्वेद अस्पताल है. यहां उपचार के लिए आने वाले मरीजों की अधिक प्रमाण में दुर्गति हो रही है. यहां प्रसुति के लिए आयी महिला मरीज की प्रसुति के लिए डॉक्टरों के पास समय नहीं होने की बात सामने आई है. इस संदर्भ में अनेक शिकायते मिल रही है. आरोग्य विभाग का कार्यभार चलाने वाले प्रमुख भी इस घटनाओं और जनता की शिकायतों की ओर ध्यान नहीं दे रही है. गरीब जनता को अच्छी सेवा मिले इस हेतु से राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज ने गुरुकुंज आश्रम में सन 1961 में भव्य श्री गुरुदेव आयुर्वेद अस्पताल का निर्माण किया था. लेकिन यहां गत कुछ वर्षों से कार्यरत वैद्यकीय अधिकारियों ने लापरवाही की हदें पार कर दी है. यहां के विभाग प्रमुख भी इसकी ओर ध्यान नहीं दे रहे है. जिससें मरीजों को सेवा मिलने के बजाय उनकी दुर्गती हो रही है.

प्रसुतितज्ञ डॉ. माधुरी भोयर ने किया प्रसूति के लिए इंकार
18 दिसंबर को शिरजगांव( मोझरी ) की वैशाली दिपक जौजालकर प्रसुति के लिए श्री गुरुदेव आयुर्वेद अस्पताल में भर्ती हुई. उस दिन प्रसुतितज्ञ डॉ. माधुरी भोयर अनुपस्थित थी. महिला के पेट का दर्द बढ़ चूका था. जिसके लिए डॉ. माधुरी भोयर को फोन किया गया लेकिन उन्होंने आने से साफ़ इंकार कर दिया. आरोग्य विभाग के अनेक वरिष्ठों ने भी डॉ. माधुरी भोयर को आने के लिए विनंती की लेकिन उन्होंने किसी की एक न सुनी और अपमानकारक वर्तन कर आने से साफ़ मना कर दिया. जिससे महिला के पति दिपक जौजालकर ने इसकी शिकायत संबंधित विभाग की ओर की है. इसके पूर्व भी अनेक शिकायतें दर्ज की गयी है.

इस तरह के व्यवहार पर आरोग्य प्रमुख पर्दा डाल रहे है. प्रसुति के लिए आयी महिला के साथ हुए गैर प्रकार से उसके परिजन संतप्त है. डॉ. माधुरी भोयर के खिलाफ 10 दिन के भीतर कोई कार्रवाई नही हुई तो उग्र आंदोलन होगा ऐसा इशारा प्रहार के विदर्भ प्रमुख संजय देशमुख ने आरोग्य विभाग से किया है.

जल्द होगी कार्रवाई – डॉ. सुर्यप्रकाश जैसवाल
राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज ने स्थापित किए इस अस्पताल में मरीजों को अच्छी सेवा मिलनी जरुरी है. लेकिन यहां कार्यरत वैद्यकीय अधिकारी, तज्ञ अगर अपने कार्य से लापरवाही बरत रहे है तो इसके बारे में उचित कार्रवाई की जाएगी. 18 दिसंबर को हुयी इस घटना की जांच की जिम्मेदारी स्थानिय व्यवस्थापन समिती को दी गयी है और इस तरह की कोई लापरवाही ना हो इसकी ओर ध्यान दिया विशेष ध्यान दिया जाएगा.

…. आखिर नर्स ने की प्रसुति
श्री गुरुदेव आयुर्वेद अस्पताल में प्रसुति के लिए आयी महिला की प्रसुति डॉ. माधुरी भोयर ने मना करने पर यहां कार्यरत नर्स को करनी पड़ी. प्रसुति के बाद सुबह 5.30 डॉ. माधुरी भोयर अस्पताल पहुंची. उल्टा उक्त महिला के परिजनों को धमकी देकर कहां कि, ‘जन्म तारीख का दाखिला कैसे मिलता है ये देखती हु’? ऐसी धमकी देनी की बात शिकायत में कही गयी है.

पति-पत्नी अनशन पर बैठेंगे
अगर डॉ. माधुरी भोयर के खिलाफ जल्द से जल्द कार्रवाई नहीं हुई तो. प्रसुति के लिए आयी महिला वैशाली जौजालकर व पति दिपक जौजालकर डॉ. माधुरी भोयर के खिलाफ अनशन पर बैठेंगे. यह अनशन कार्रवाई करने के लिए अस्पताल के सामने होगा ऐसा इशारा उन्होंने ज्ञापन द्वारा दिया है. इसके बाद ऐसा प्रकार किसी के साथ न हो इसके लिए यह फैसला लिया गया है.