Published On : Wed, Mar 11th, 2015

मूल : अन्याय न सहते हुए प्रतिकार करें – मेघा गोखरे

Advertisement

Dont Worry mother club
मूल (चंद्रपुर)। विभिन्न क्षेत्रों में अपना नाम कमाने के साथ समाज को साक्षर और दिशा दिखाने वाली महिलाओं के विषय में कुछ लोगों ने मिथक फैलाकर अन्याय और अत्याचार करने का कर रहे है. अन्याय करने वाला जितना जिम्मेदार होता है उससे ज्यादा जिम्मेदार अन्याय सहने वाला उतना ही जिम्मेदार रहता है. ऐसी महिलाओं ने अन्याय न सहते हुए अन्याय का प्रतिकार करने के लिए समर्थ रहे ऐसा पुलिस उपनिरीक्षक मेघा गोखरे ने व्यक्त किया. वे जागतिक महिला दिवस के उपलक्ष पर स्थानिय सेंट अन्स हायस्कूल अंतर्गत स्थापन किए गए डोंट वरी मदर क्लब की ओर से आयोजित महिला जागर और सांस्कृतिक कार्यक्रम में बोल रहे थे. इस दौरान नगराध्यक्षा रीना थेरकर, वृषाली होनाडे, प्राचार्य डॉली वर्गीस, व्यवस्थापक एल्सी वर्गीस, क्लब की संयोजिका डा. प्रवीणा वराडे आदि उपस्थित थे.

प्रारंभी मेघा गोखरे ने क्रांती ज्योति सावित्रीबाई फुले की प्रतिमा का पूजन अभिवादन और दिप प्रज्वलन करके कार्यक्रम का उद्घाटन किया. संयोजिका डा. प्रवीणा वराडे ने प्रास्ताविक करते हुए महिला दिवस के उपलक्ष पर महिलाओं ने संघटित होकर अपने कलागुणों को बाहर निकालने के लिए सांस्कृतिक स्पर्धा का आयोजन करे. इस दौरान नगराध्यक्ष रीना थेरकर और वृषाली होनाडे ने मनोगत व्यक्त करते हुए समाज की निर्मिति करने वाली स्त्री अनेक शोधों की जननी है. आज स्त्री रेल्वे, बस, ट्रक, विमान चलाने के साथ प्रशासन के अनेक महत्वपूर्ण पद पर कार्यरत है वहीं हम किसी से कम नही कहते हुए परिवार को प्रकाश देने का काम कर रही है.

जागतिक महिला दिवस के उपलक्ष पर आयोजित किए गए सांस्कृतिक स्पर्धा का उद्घाटन मदर क्लब के सदस्यों ने गणेश वंदना पर आधारित नृत्य से हुआ. इस दौरान सेंट अन्स हायस्कूल के शिक्षकों ने प्रस्तुत किए “खेल मांडला” गीत पर नृत्य किया. विद्यालय के अंतर्गत शिक्षा ले रहे छात्राओं की माताओं को संघटित करके स्थापन किए मदर क्लब के संघ ने स्त्री जन्म, साक्षरता का प्रसार, लड़का-लड़की भेदभाव, महिलाओं पर अत्याचार, आरोग्य प्रति जागृति, गर्भलिंग निदान इसके अतिरिक्त प्रभोधनात्मक देशभक्ती गीत पर नृत्य और लघुनाटिका प्रस्तुत करके महिलाओं को जागृत होने का आवाहन किया.

Advertisement
Advertisement

नृत्य स्पर्धा में सावली के अभिभावक माता संघ ने प्रथम पुरस्कार प्राप्त किया. माया संघ को द्वितीय क्रमांक तथा प्रेम और ममता संघ ने तीसरा क्रमांक प्राप्त किया. लघु नाटिका स्पर्धा में आई संघ को प्रथम क्रमांक और माँ संघ को द्वितीय तथा मदर संघ को तीसरा क्रमांक प्राप्त हुआ. विजेता महिला संघ को मान्यवरों के हांथों पुरस्कार वितरण किया गया. स्पर्धा के परीक्षक रेणु मामिडवार और निकिता कोतपल्लीवार थे. कार्यक्रम का संचालन डा. प्रवीण वराडे और भारती वालके ने किया. कार्यक्रम की सफलता के लिए मदर क्लब की शारदा गोयल, पिंकी नारंग, सुनीला आयलनवार, निता आकुलवार, मीनाक्षी छोंकर, रूपा ऐरने, पलक केशवाणी ने प्रयास किया.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement