Published On : Wed, Oct 30th, 2019

बदल जायेगी डिजिटल की दुनिया

अडानी और डिजिटल रियल्टी के बीच भारत में डेटा केंद्रों के ढांचे हेतु १३ बिलियन डॉलर की साझेदारी

गोंदियाः गोंदिया। भारत के डेटा डोमेन सेंटर में अपनी गति बढ़ाने और उसके विस्तार के लिए अदानी समूह (अडानी) ने एक रणनीतिक कदम में मंगलवार को सैन फ्रांसिस्को स्थित डिजिटल रियल्टी डेटा सेंटर के साथ १३ बिलियन डॉलर के अनुबंध की घोषणा की।

अडानी समूह द्वारा जारी प्रेस नोट के अनुसार अडानी इंटरप्राईंजेस और डिजिटल रियल्टी यह संयुक्त रूप से एकिकृत व्यापार के तहत काम करेंगे और भारत में ऑपरेटिंग डेटा सेंटर, डेटा सेंटर पार्क और केबल प्रदाता समुदायों के हित के विकास का मुल्याकंन करेंगे।

अडानी ने एक बयान में कहा – मौजुदा डेटा सेंटर की क्षमता काफी कम है, अडानी और डिजिटल रियल्टी के बीच साझेदारी होने से देश के डेटा सेंटर का बुनियादी ढांचा मजबूत होगा, इसकी डिजिटल क्षमता में वृद्धि होगी, यह सहयोग दोनों कम्पनियों की मजबूत इंजिनियरिंग और परियोजना प्रबंधन क्षमता को भी प्रभावी ढंग से निष्पादित करेगा और आवश्यक उच्च समय स्तरों के साथ सुविधाएं प्रदान करने में सक्षम होगा।

डेटा सेंटरों की क्षमता अद्वितीय होगी- गौतम अडानी

अडानी गु्रप के अध्यक्ष गौतम अडानी ने कहा- डिजीटल इंडिया को सक्षम करने के लिए डेटा सेंटर इन्फ्रास्ट्रक्चर महत्वपूर्ण है और यह साझेदारी इस क्षेत्र को नया रूप देने के लिए है तथा पोर्ट बिजनेस के माध्यम से बिजली उत्पादन , ट्रांसमिशन, खुदरा बिजली वितरण, बंदरगाहों के व्यवसाय के माध्यम से जल क्षेत्रों तक पहुंच को सक्षम बनाएंगी साथ ही यह दुनिया की शीर्ष ५ नवीकरणीय ऊर्जा कम्पनियों में से एक के रूप में सौर और पवन उर्जा हमारे डेटा केंद्रों को बिजली देने की हमारी क्षमता अद्वितीय करेगी और इस क्षेत्र को बदलने में मदद मिलेगी।
भारत में डेटा सेंटर का आऊट सोर्सिंग बाजार वर्तमान में लगभग २ बिलियन डॉलर आंका गया है,जो वित्त वर्ष २०२३-२४ तक ५ बिलियन डॉलर तक पहुंचने के लिए २५ प्रतिशत की वार्षिक वृद्धि दर से बढ़ने का अनुमान है। दोनों कम्पनियों की विशेषज्ञ क्षमता पूरक है और हम भारत में ग्राहकों को अद्वितीय उत्पाद और समाधान प्रदान कर सकते है।

विश्‍व स्तरीय डेटा सेंटर बनाने हेतु हम प्रतिबद्ध है- सीईओ डिजीटल रियल्टी

डिजिटल रियल्टी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) विलियम स्टीन ने कहा- हम अपने वैश्‍विक और भारतीय ग्राहकों की वृद्धि का समर्थन करने के लिए भारत में एक विश्‍व स्तरीय डेटा सेंटर नेटवर्क बनाने के लिए अडानी के साथ काम करने हेतु दृढ़ता से प्रतिबद्ध है। स्थानीय बाजार और उनकी पूरक क्षमताओं के बारे में उनका ज्ञान हमारे लिए बहुत उपयुक्त है, जो बढ़ते क्षेत्र में ग्राहकों की सेवा करने की हमारी क्षमता को बढ़ायेगा। देश में रियल स्टेट, विकास, ऊर्जा, शीतलन प्रौद्योगिकी और कनेक्टिविटी के माध्यम से अपनी वैश्‍विक व भारतीय ग्राहकों के विश्‍वास का समर्थन करने के लिए हम अडानी के साथ काम करने और डेटा सेंटर नेटवर्क निर्माण के लिए प्रतिबद्ध है।

गौरतलब है कि, डिजिटल रियल्टी पूरे उत्तरी अमेरिका, युरोप, लैटिन अमेरिका, एशिया और आस्ट्रेलिया में स्थित डेटा केंद्रों का सुरक्षित नेटवर्क व समृद्ध पोर्टफोलियो में डेटा सेंटर, एकिकरण, इंटर कनेक्शन, रणनीतियों का समर्थन करता है, इससे सूचना प्रौद्योगिकी सेवाएं, संचार और सामाजिक नेटवर्किंग से लेकर वित्तीय सेवाओं, उत्पादों, उर्जा , स्वास्थ्य सेवा और उपभोक्ता उत्पादों तक सभी घरेलू और अंतराष्ट्रीय कम्पनियां शामिल है।

रवि आर्य