Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Wed, Aug 22nd, 2018

    अब ड्राइविंग लाइसेंस और डॉक्यूमेंट भूल गए तो भी कोई बात नहीं, डीजी लॉकर है न!

    नागपुर: अब वाहनधारक आरटीओ को अपने स्मार्टफोन के माध्यम से लाइसेंस व गाड़ी के दस्तावेज दिखा सकेंगे. वाहनधारकों को पॉकेट या जेब में इसे कैरी करना नहीं पड़ेगा. जिससे कई परेशानियों से निजात मिलेगी. हाल ही में केन्द्र सरकार ने डीजी लॉकर नामक प्रणाली विकसित की है. जिसमें अपना आधार कार्ड नंबर जोड़ते हुए इसमें लाइसेंस से लेकर गाड़ी के महत्वपूर्ण दस्तावेज स्कैन कर रखे जा सकते हैं.

    यदि सफर के दौरान RTO लाइसेंस या दस्तावेज मांगती है, तो स्मार्टफोन में अपना डीजी लॉकर ओपन करते हुए सीधे दस्तावेज को दिखाया जा सकता है. डीजी लॉकर में जमा दस्तावेज अधिकृत माने जाएंगे. नागपुर शहर RTO की ओर से हो रही कार्रवाई में इस तकनीक के माध्यम से वाहनधारकों के दस्तावेज जांच-पड़ताल शुरू भी कर दी गई है.

    उल्लेखनीय है कि गाड़ी चलाने के लिए RTO से लाइसेंस आवश्यक होता है. वहीं गाड़ियों के क्रम अनुसार दस्तावेज भी लगते हैं. RTO से इन दस्तावेज को बनाने के बाद साथ में लेकर सफर पर निकलना पड़ता है. ताकि पुलिस द्वारा होने वाली जांच-पड़ताल में लाइसेंस से लेकर अन्य दस्तावेज को दिखाया जा सके. यदि इन दस्तावेज का जेरॉक्स भी रखें तो कार्रवाई के दौरान इसे मांगा नहीं जाता है. एक लाइसेंस को पॉकेट में कैरी करना फिर भी आसान होता है. लेकिन दस्तावेज को गाड़ियों की डिक्की में रखना सुरक्षित नहीं होता है।

    वहीं लाइसेंस भी पॉकेट में रहने से खराब हो जाता है. ऐसे में पहचान को लेकर सवाल उठाते हैं. लेकिन हाल ही में शुरू हुई डीजी लॉकर सरकार की एक एप है, जिसे डाउनलोड कर इसमें दस्तावेजों की डिजिटल कॉपी को अपलोड कर रखना पड़ता है। इसके बाद साथ में दस्तावेज या लाइसेंस लेकर भी नहीं चले तो भी जांच-पड़ताल के दौरान स्मार्टफोन के माध्यम से प्रमाणपत्र दिखाये जा सकते हैं. इसका सबसे अधिक फायदा वाहनधारकों को आपातकालीन स्थिति में होगा.

    कई बार मेडिकल इमरजन्सी में रात बे रात वाहनधारक केवल मोबाइल व पॉकेट लेकर ही निकलते हैं. कई बार वह अपना लाइसेंस आदि कैरी करना भूल जाते हैं, जिससे गश्त लगा रहे सुरक्षा व्यवस्था को खुद की पहचान देने में परेशानी होती है. लेकिन डीजी लॉकर से इनकी परेशानी हल हो सकेगी. शहर RTO के उप प्रादेशिक परिवहन अधिकारी अतुल आदे ने बताया कि केन्द्र सरकार ने सड़क यातायात व महामार्ग मंत्रालय ने वाहन चालक लाइसेंस के साथ वाहन पंजीयन प्रमाणपत्र की डिजिटल कॉपी डीजी लॉकर मोबाइल एप द्वारा उपलब्ध करने की सुविधा दी है.

    इस एप का उपयोग रेलवे भी कर रही है. यात्रियों को सफर के दौरान पहचानपत्र दिखाने का नियम है. टिकट जांच के दौरान टीटीई ने यदि पहचानपत्र की मांग की तो यात्री के पास ओरिजनल पहचान पत्र होना अनिवार्य है, लेकिन कई बार यात्री इसे ले जाना भूल जाते थे.

    ऐसे में उनके पहचान पर सवाल उठता था। लेकिन अब रेलवे ने डीजी लॉकल में जमा दस्तावेज को स्वीकृत करने की तैयारी दिखाई है, जिससे दपूम रेलवे नागपुर मंडल अंतर्गत कई दिनों से यात्री इसका लाभ भी ले रहे हैं.


    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145