Published On : Wed, Nov 16th, 2016

राज्य सरकार से मिले 100 करोड़ से पुरे होंगे लटके विकास कार्य

Advertisement

NMC nagpur

नागपुर : राज्य की सभी महानगर पालिकाओ के सर्वांगीण विकास के लिए मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने 253 करोड़ रूपए दिए जाने का ऐलान किया था। इस ऐलान में नागपुर मनपा को 100 करोड़ रूपए का प्रावधान किये जाने की जानकारी सत्तापक्ष नेता दयाशंकर तिवारी ने दी। तिवारी के मुताबिक मनपा उसे प्राप्त राशि खर्च करने के लिए विकास कामो का प्रस्ताव बनाकर और राज्य सरकार से मंजूरी लेकर खर्च कर सकती है।

मनपा जल्द ही विकास कामो का प्रस्ताव बनाकर इस राशि का उपयोग करेगी। 100 करोड़ में से शहर के प्रत्येक जोन को करीब 15 करोड़ रूपए मिलेंगे। शहर कई विकास कार्य निधि के आभाव में लटके पड़े है। इन प्रस्तावों को नए सिरे से तैयार कर पुनः मंजूरी के लिए भेजा जायेगा। इसके अलावा रेशमबाग मैदान के ठीक बगल में निर्माणाधीन कवि सुरेश भट्ट सभागृह के लिए महापौर ने मुख्यमंत्री से 30 करोड़ रूपए की माँग की थी। जिसके पहली किश्त के रूप में 20 करोड़ रूपए बीते 15 नवंबर को मिल चुके है।

Advertisement
Advertisement

अब मॉडल सोलर सिटी योजना की सब्सिडी देंगी मनपा
महानगरपालिका मॉडल सोलर सिटी योजना के अंतर्गत मनपा की विभिन्न इमारतों पर 930 किलो वॉट क्षमता के संयंत्र को पीपीपी मॉडल के आधार पर लगाएगी। इस योजना के तहत मनपा को केंद्र सरकार की ओर से 30 प्रतिशत की सब्सिडी भी मिली है। इस काम के लिए केंद्र सरकार से मनपा को सब्सिडी की रकम के तौर पर 1. 15 करोड़ रूपए प्राप्त भी हो चुके है। मनपा जल्द ही निविदा निकालकर इस काम की शुरुवात करेगी। सौर ऊर्जा के निर्माण के लिए इसी योजना के तहत मनपा की नई प्रशासकीय इमारत की छत पर 2 और जोन क्रमांक 5,8,9 में 25 किलो वॉट क्षमता के ऊर्जा निर्मिति संयंत्र स्थापित किया गया है।

तिवारी के अनुसार सौर ऊर्जा निर्मिति संयंत्र बेहद फायदेमंद है उन्होंने पूर्व महापौर अनिल सोले और महापौर प्रवीण दटके का उदहारण देते हुए बताया की इन दोनों ने 1 . 7 लाख की लागत से अपने घरो में संयंत्र लगाया है जिस वजह से बिजली के बिल में भारी कमी आयी है पहले महापौर 5 से 6 हजार का बिल भरते थे पर अब उन्हें मात्र 50 से 100 रूपए के बीच ही बिजली का बिल आता है। महानगर पालिका ने अपारंपरिक ऊर्जा निर्माण को प्रोत्साहन देने के लिए सोलर वॉटर हीटर वितरण की योजना शुरू की थी। इस योजना के तहत 50 फीसदी की सब्सिडी केंद्र सरकार देती थी। पर अब केंद्र सरकार ने यह योजना बंद कर दी है। इस योजना के तहत मनपा नागरिको को 1815 वॉटर हीटर का वितरण कर चुकी है। मनपा ने इस योजना को अपने खर्चे पर जारी रखने का फैसला लिया है। योजना को आगे बढ़ाते हुए मनपा ने 1252 हीटर के लिए शहरवासियों से निविदा मंगायी है। इसके अलावा नागरिको को वितरित किये गए 386 सोलर वॉटर हीटर पर खुद सब्सिडी देने का भी फैसला लिया है। इस योजना के अंतर्गत मनपा को 3450 हीटर उपलब्ध करा कर देना था।

– राजीव रंजन कुशवाहा

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement