Published On : Tue, Jul 27th, 2021

मुफ़्त शिक्षा के अधिकार तथा JJ एक्ट का उल्लंघन बाबत आरटिई एक्शन कमिटी का धरना प्रदर्शन

स्वामी अवधेशानंद पब्लिक स्कूल के विरोध में उप संचालक के चैम्बर के अंदर धरना प्रदर्शन ।

नागपुर : स्वामी अवधेशानंद पब्लिक स्कूल के विरोध में शिकायत निवारण समिति के समक्ष RTE & JJ अधिनियम का उल्लंघन के संदर्भ में सूनाओनी रखी गई थी लेकिन समय सीमा के अनुसार आहवाल न आने पर शिक्षण माध्यमिक बोर्ड कि अध्यक्षत तथा उप संचालक के चेंबर में धरना प्रदर्शन किया गया जिसमें स्कूल द्वारा मुफ़्त शिक्षा के अधिकार तथा JJ एक्ट का उल्लंघन बाबत जैसा कि स्कूल में स्टेट बोर्ड के नियम से चल रही है और पालकों को CBSE स्कूल के नियम से चलाने का पैसा लिया जा रहा है और साथ ही अभी तक लीगल PTA स्थापित नहीं की गई है और आठवी के बाद से बच्चे को दूसरे स्कूल में भेजकर दसवीं की परीक्षा दिलायी जाती है एक्टिविटी फ़ीस वसूली और इसी प्रकार मुफ़्त शिक्षा के अधिकार अंतर्गत स्कूल की मान्यता है ही नहीं

और विगत वर्ष मान्यता दी गई थी लेकिन सवाल यह उठता है कि जब स्कूल में लैब ही नहीं है तो ऐसी हालत में मान्यता किस आधार पर दी गई और नियम के मुताबिक़ लैब नहीं होने पर और बुनियादी सुविधाएँ नहीं होने पर स्कूल चलायी नहीं जा सकता यह गोरखधंधा शिक्षा विभाग की मिलीभगत से फल फूल रहा था इन सभी बात और सुबूत है और उसी को लेकर RTE एक्शन कमिटी के चेयरमैन मो शाहिद शरीर द्वारा पालकों के साथ बोर्ड के अध्यक्ष समक्ष प्रस्तुत की गई और बैठक में प्राध्यापक द्वारा लेखी स्वरूप दिया गया

कि परवानगी 8वीं तक है और स्कूल दसवी तक चल रही CBSE की परवानगी भी उनके पास नहीं है शाला द्वारा किसी भी प्रकार की नियमित समिति स्थापित नहीं की गई है और पलकों की जानकारी में ना रहते विद्यार्थियों को दूसरी जगह भिजवा कर परीक्षा दिलवाना अधिनियम का उल्लंघन और JJ एक्ट प्राध्यापक के विरुद्ध दाख़िल होना अत्यंत आवश्यक है क्यों की जान बूझकर बच्चों को मानसिक त्रास देना और उनके भविष्य के साथ खेलना आपराधिक कृत्य है तो इसी माँग को लेके उप संचालक को अवगत कर शाला के विरोध में कार्रवाई के लिए आग्रह किया गया इस अवसर पर हाँ आर टि ई एक्शन कमेटी के चेयरमैन मो शाहिद शरीफ़ ,अभिषेक जैन,सचिन कावड़कर,प्रशांत पवार,सुचिता रखूंडे अर्चना गिरी,नितिन जैन,माधुरी खड़ेकर,स्वाति कावड़कर,आनंद कलबे, श्याम गुप्ता,राजेश गोसेवाडे,महेशधोगडे,सुनील कापसे,हेमंत रेवतकर ,गोविंद मेश्राम,देवेंद्र भूते,जयंत बेलेकर,रामेश्वर आत्राम,सुनील कुसूरकर,तुलसीदास झाड़े,अर्चना धोखे,प्रदीप पाटील मोतीराम कापगाते,सतीश रेवतकर, शीतल आगरे,आदि उपस्थित थे।