Published On : Sat, Nov 10th, 2018

नोटबंदी की असफलता पर हवन का आयोजन

नागपुर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 नवंबर, 2016 को नोटबंदी की घोषणा कर 500 और 1000 के नोट बंद कर दिया था. इस घोषणा का मकसद था भ्रस्टाचार कम करके कला धन वापस लाना. हालांकि नोटबंदी के दो साल बाद मोदी सरकार द्वारा किया गया कोई भी वादा पूरा नहीं हो पाया है. इसके विरोध में युवक कोंग्रेसियों ने संविधान चौक पर हवन का आयोजन किया.

नोटबंदी की वजह से 100 से ज्यादा लोगों की जाने गई. देश की अर्थव्यवस्था कमजोर हुई है. नए नोट की छपाई में 8000 करोड़ रुपए खर्च किए गए और मिला कुछ भी नहीं. आज आम लोगो की समस्या दिनो दिन बढी है, लोगो के पास रोजगार नहीं, तो घर के जरूरी चीजों के लिए पैसे नहीं.
मोदी सरकार ने नोटबंदी कर पचास दिन का समय मांगा था लेकिन कोई उपलब्धि हासिल नहीं कर पाए.

इसके विरोध में संविधान चौक पर प्रदेश युवक कांग्रेस की तरफ से विधिपूर्वक नरेंद्र मोदी के नामकरण का आयोजन किया गया.

इस कार्यक्रम का आयोजन महाराष्ट्र प्रदेश युवक कांग्रेस के प्रदेश सचिव अजीत सिंह और उपाध्यक्ष धीरज पांडे ने किया. इस विरोध प्रदर्शन कार्यक्रम में मुख्य रूप से उपस्थित प्रदेश सचिव निलेश खोरगड़े, कुणाल पुरी, आनंद तिवारी, शाहिद खान, प्रदीप कुमार प्रसाद, पिंटू तिवारी, मंगेश सातलवार, हाफिज अंसारी, गौतम अंबादे शेख शाहनवाज, कुणाल निमगडे, सत्यम सोडगीर, अगस्टिन जॉन,फैजान अंसारी, सैफ अली, राजेंद्र चौहान,अक्षय आदमने आदी प्रमुखता से उपस्थित थे.