Published On : Mon, Dec 26th, 2016

मनोरंजन कर विभाग पर नोटबंदी की मार, थर्टी फर्स्ट पार्टी आवेदन को ठंडा प्रतिसाद

rs-1000-notes
नागपुर:
थर्टी फर्स्ट आयोजन के लिए केवल चार दिन शेष हैं और जिलाधिकारी कार्यालय का मनोरंजन कर विभाग सप्ताह के पहले दिन अर्थात सोमवार को खाली पड़ा है। 31 दिसंबर को आयोजित की जानेवाली पार्टियों के लिए आवेदन इस साल बहुत कम प्राप्त हो रहे हैं। बताया जाता है कि आयोजकों पर नोटबंदी की मार हुई है जिसका सीधा असर विभाग के राजस्व पर पड़ता दिखाई दे रहा है। पिछले वर्ष तक विभाग को 30 आवेदन प्राप्त हुए थे। इस साल यह अब तक 10 आवेदनों से ऊपर निकलता दिखाई नहीं दे रहा है। पार्टी आयोजकों के ठंडे प्रतिसाद को देखते हुए इस साल आवेदकों की संख्या आधी पर सिमटने का डर विभाग को सता रहा है।

मनोरंजन कर विभाग 31 दिसंबर की शाम आयोजित होनेवाली पार्टियों जिसमें डीजे पार्टी के साथ खानेपीने आदि के आयोजन की एंट्री फीस पर 20 प्रतिशत का कर लेती है। इससे साल के अंत में विभाग को मोटा राजस्व प्राप्त होता था। लेकिन इस साल सब ठंडे बस्ते में जाते दिखाई दे रहा है। 31 दिसंबर को नियमों का उलंघन व बिना अनुमति पार्टियों का आयोजन करनेवालों की अचानक जांच व कार्रवाई के लिए 5 उड़न दस्ते तैयार किए गए हैं। यह उड़न दस्ते शहर की पार्टियों पर छापेमार कार्रवाई करेंगे।

हालांकि पिछले साल 30 आयोजकों में से किसी के खिलाफ भी कार्रवाई नहीं हुई थी। इस उड़न दस्ते में 6 सदस्यों का समावेश रहेगा जिसमें तहसीलदार, नायब तहसीलदार, मनोरंजन कर अधिकारी व स्टाफ से कर्मचारी व दो पुलिस कर्मचारियों का समावेश रहेगा। जिले के ग्रामीण भागों में तहसीलदारों को संबंधित क्षेत्र के लिए उड़न दस्ते नियुक्त करने के भी आदेश सोमवार शाम को जारी कर दिए गए हैं।