Published On : Thu, Mar 16th, 2017

पुनर्मूल्यांकन रिजल्ट में देरी, बी.कॉम विद्यार्थी तीव्र आंदोलन की तैयारी में

Nagpur University
नागपुर:
 बी.कॉम प्रथम वर्ष के 2016 के पुनर्मूल्यांकन का रिजल्ट सात दिनों के अंदर घोषित नहीं किए जाने पर राष्ट्रसंत तुकड़ोजी महाराज नागपुर विद्यापीठ के विरोध में आम आदमी पार्टी के विद्यार्थी संगठन छात्र युवा संघर्ष समिति की ओर से तीव्र आंदोलन करने की चेतावनी दी गई है। गुरुवार को सभी विद्यार्थियों और कार्यकर्ताओं द्वारा विद्यापीठ कुलगुरु डॉ.सिद्धार्थ विनायक काणे को निवेदन सौपा गया। विद्यार्थियों ने इस दौरान कहा कि राष्ट्रसंत तुकड़ोजी महाराज नागपुर विद्यापीठ की देर से रिजल्ट घोषित करने की परंपरा रही है। विद्यापीठ प्रशासन ने इस बार भी यह परंपरा कायम रखी है। आयटी रिफार्म के नाम पर इस बार जल्द रिजल्ट लगाने की बात विद्यापीठ प्रशासन की ओर से की गई थी। लेकिन 2016 के शीतकालीन सत्र के 50 प्रतिशत से ज्यादा संकाय के पुनर्मूल्यांकन के रिजल्ट अभी तक नहीं आए हैं।

छात्र युवा संघर्ष समिति (सीवायएसएस) ने राष्ट्रसंत तुकड़ोजी महाराज विद्यापीठ के कुलुगरू सिद्धार्थ विनायक काणे को निवेदन सौपा । जिसमे मांग की गई है कि परीक्षा विभाग में बदलाव किया जाए, पुनर्मूल्यांकन के रिजल्ट 20 दिनों के अंदर जारी किए जाएं, परीक्षा शुल्क कम किए जाएं। आप कार्यकर्ता और बी.कॉम के विद्यार्थियों का कहना है कि इससे पहले भी कुलगुरु से इन मांगों पर विचार करने की मांग की गई थी। लेकिन उन्होंने गंभीरता नहीं दिखाई। कुलगुरु ने पद स्वीकारने के तुरंत बाद आश्वासन दिया था कि परीक्षा विभाग में बदलाव लाया जाएगा और व्यवस्था सुधारी जाएगी। लेकिन यह आश्वासन केवल आश्वासन ही निकला। बी.कॉम के विद्यार्थियों ने एक हफ्ते के भीतर रिजल्ट नहीं जारी किए जाने पर तीव्र आंदोलन की चेतावनी कुलगुरु को दी है। छात्र युवा संघर्ष समिति (सीवायएसएस) की ओर से पीयूष आकरे, शरद आकरे, कृतल वालेकर, अमित बडवाईक, सुरेन्द्र समुद्रे, प्रणय केळापुरे, आतिष रंगारी आदि ज्ञापन देते समय मौजूद थे।