Published On : Mon, Nov 20th, 2017

आमसभा के सवालों के लिए बनी दयाशंकर तिवारी समिति

Dayashankar Tiwari

Dayashankar Tiwari

नागपुर: आमसभा में अब तक कोई भी वर्तमान नगरसेवक किसी भी स्तर का सवाल पूछ लिया करता है. हालांकि पहले भी नियम थे लेकिन वर्तमान में इस प्रथा पर बंदी लाने के लिे वर्तमान सत्ताधारियों ने मनपा अधिनियम के तहत सूचना जारी की है. इस सूचना के साथ सहमति पत्र पर जाने-अनजाने में विपक्ष नेता और बसपा नेता ने भी हस्ताक्षर कर दिए, जिस पर आज उन्होंने और आज अपने कृत को धोखाधड़ी का नाम देकर पलट गए. ऐसे में सत्तापक्ष ने मामले को संभालने के लिए सत्तापक्ष के वरिष्ठ नगरसेवक दयाशंकर तिवारी की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया गया, जो एक माह में अपनी समीक्षा रिपोर्ट सभागृह में पेश करेंगे.

मसाला यह था कि सत्तापक्ष नियमों की आड़ लेकर आमसभा में नगरसेवकों द्वारा उठाये जा रहे प्रश्नों पर अंकुश लगाना चाह रहे थे. जिसके लिए पिछली सभा में अचानक बसपाइयों द्वारा जारी हंगामों के बीच प्रशासन की ओर से सूचना का पठन किया गया. बाद में इस सूचना पर विपक्ष और बसपा नेता की हस्ताक्षर ली गई. इस सहमति को तुरंत अमल में लाते हुए आज आम सभा में कांग्रेस के वरिष्ठ नगरसेवक संदीप सहारे का प्रश्न आमसभा के कामकाज में शामिल नहीं किया गया. इस मामले पर आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया.

इस मामले पर हस्तक्षेप करते हुए सत्तापक्ष नेता जोशी की सिफारिश पर महापौर ने भाजपा के वरिष्ठ नगरसेवक दयाशंकर तिवारी की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया. इस समिति में सुनील अग्रवाल, प्रवीण दटके, प्रफ्फुल गुड़धे पाटिल व नरेंद्र वाल्दे का समावेश है, जो यह तय करेंगे कि आमसभा में किस प्रकार के और कौन से स्तर के सवाल विषय पत्रिका में समावेश किए जाएंगे. नगरसेवकों द्वारा प्रत्येक आमसभा के पूर्व आने वाले सवालों को पहले उनसे सम्बंधित समितियों के समक्ष पेश किया जाएगा. अगर वहां निराकरण हो गया तो ठीक वर्ना आमसभा में मुद्दा लाने आदि पर सूक्षम विचार विमर्श कर अपनी रिपोर्ट आगामी सभा में प्रस्तुत करेंगे, जिसके बाद उस रिपोर्ट के अनुसार आमसभा में प्रश्नों को लाया जा सकेगा.

सेवानिवृत्तों की जगह बेरोजगार-सक्षम युवाओं की हो नियुक्ति
पिछले कुछ वर्षों से मनपा में हर माह ३ से ४ दर्जन कर्मी सेवानिवृत हो रहे हैं. इन पदों में से जरूरत के अनुसार जो नियुक्तियां हो रही हैं, उनमें अधिकांश मनपा के सेवानिवृत्तों की हो रही है. इसका विरोध आज आमसभा में भाजपा नगरसेवक बाल्या बोरकर ने की. उन्होंने मांग कि सेवानिवृत्तों को दी जा रही सैलरी के साथ ही साथ उन्हें पेंशन भी मिल रही है. वहीं शहर का युवा बेरोजगार है, इनमें से सक्षम युवकों की भर्ती की जाए. संदीप सहारे ने महापौर के निकट खड़े विलास फड़नीस पर सवाल खड़े करते हुए उपस्थितों को जानकारी दी कि महापौर के पास वर्तमान में सहायक है, जिनकी नाम रामकृष्ण लाडे है. उनके रहते हुए मनपा प्रशासन ने फडनिस की ठेकेदारी पर नियुक्ति समझ से परे है. इस मामले को गंभीरता से लेते हुए सत्तापक्ष नेता जोशी की सिफारिश पर महापौर ने प्रशासन को निर्देश दिया कि भविष्य में भर्ती के वक़्त शहर के युवाओं और बेरोजगार को नज़रअंदाज कर सेवानिवृत्तों की भर्ती न की जाए.

विपक्ष की मांग पर बनी आश्वासन पूर्तता समिति
कांग्रेस के नगरसेवक प्रफ्फुल गुड़धे ने महापौर का ध्यानाकर्षण करते हुए उनसे जानकारी मांगी कि पिछले आमसभा में महापौर ने जितने भी निर्देश दिए थे, उनमें से कितने निर्देशों का पालन हुआ और शेष निर्देशों की वर्तमान स्थिति क्या है. महापौर ने इसे लेकर गोलमोल जवाब दिए. प्रशासन के गोलमोल जवाब से नाराज पूर्व महापौर प्रवीण दटके ने महापौर से मांग की कि ऐसे मामलों से निपटने के लिए आश्वासन समिति का गठन सत्तापक्ष नेता के नेतृत्व में किया जाए. महापौर ने गुड़धे पाटिल की सूचना को समाहित कर सत्तापक्ष नेता नेतृत्व में आश्वासन पूर्तता समिति के गठन की घोषणा की.

हॉटमिक्स की जगह बैचमिक्स,स्थाई समिति करेगी समीक्षा मनपा के हॉटमिक्स विभाग की करतूतों की पोल भाजपा नगरसेवक छोटू भोयर ने खोलते हुए उनकी खामियां गिनवाई. वहीं नासुप्र हॉटमिक्स विभाग के मार्फ़त हर वर्ष किए जा रहे कार्योंं की तुलना भी की. मामले में हस्तक्षेप करते हुए प्रवीण दटके ने हॉटमिक्स की जगह बैचमिक्स की मांग की, तो प्रशासन द्वारा हॉटमिक्स के मार्फ़त शहर के सारे गड्ढे बुझाए जाने की जानकारी दिए जाने पर सतीश होले ने प्रशासन से पूछा कि फिर मनपा में जैट पैचर मशीन क्या काम रही है. गर्मागरम बहस के बाद महापौर स्थाई समिति को निर्देश दिया कि उक्त विषय पर समीक्षा कर अगली सभा में अपनी रिपोर्ट पेश करे.

हॉटमिक्स की जगह बैचमिक्स,स्थाई समिति करेंगी समीक्षा
मनपा का हॉटमिक्स विभाग के करतूतों की पोल भाजपा नगरसेवक छोटू भोयर ने खोलते हुए उनकी खामिया गिनवाई।वहीं नासुप्र हॉटमिक्स विभाग के मार्फ़त प्रत्येक वर्ष की जा रही कार्यों की तुलना भी की.मामले में हस्तक्षेप करते हुए प्रवीण दटके ने हॉटमिक्स की जगह बैचमिक्स की मांग की.तो प्रशासन द्वारा हॉटमिक्स के मार्फ़त शहर के सारे गड्ढे बुझाये जाने की जानकारी सामने आने के बाद सतीश होले ने प्रशासन पूछा कि फिर मनपा में जैट पैचर मशीन क्या काम रही हैं.गर्मागरम बहस के बाद महापौर स्थाई समिति को निर्देश दिया कि उक्त विषय पर समीक्षा कर अगली सभा में अपनी रिपोर्ट पेश करे.