Published On : Thu, Mar 2nd, 2017

एवीएम मशीन में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए जाँच की माँग


नागपुर:
 हालही में नागपुर में हुए स्थानीय निकाय चुनाव में एवीएम मशीन में गड़बड़ी का गंभीर आरोप लग रहा है। चुनाव में बीजेपी की एकतरफ़ा जीत पर विरोधियों के ही साथ साथ राज्य की सत्ता में सहयोगी शिवसेना भी दाल में कुछ काला होने का अंदेशा व्यक्त कर रही है। एवीएम मशीन से निकले चुनाव परिणाम से कई पार्टियों के उम्मीदवार सकते में हैं। यही वजह है अब एवीएम मशीन की चुनाव प्रणाली पर सवाल भी उठने लगे हैं।

गुरुवार को नागपुर में बीजेपी को छोड़कर लगभग सभी दलों ने चुनाव में धांधली का आरोप लगाते हुए प्रदर्शन किया। शहर के चिटणीस पार्क इलाके से जिलाधिकारी कार्यालय तक मोर्चा निकाला गया। जिसमे काँग्रेस ,राष्ट्रवादी काँग्रेस, शिवसेना, बसपा, मुस्लिम मंच के अलावा अन्य राजनितिक दल शामिल हुए। मोर्चे में शामिल लोगों का एक प्रतिनिधि दल अपने निवेदन के साथ जिलाधिकारी सचिन कुर्वे से भी मिला जिसमें उन्होंने एवीएम मशीन से नागपुर मनपा के हुए चुनाव प्रक्रिया की जाँच कराये जाने की माँग की।

इस प्रदर्शन में शामिल काँग्रेस के वरिष्ठ नेता शेख हुसैन के मुताबिक जिस तरह के चुनाव परिणाम सामने आए, वह आश्चर्यचकित करते हैं। उन्होंने कहा कि हमारा स्पष्ट आरोप है कि एवीएम मशीन के साथ धांधली हुई है। जिसका परिणाम बीजेपी को छोड़कर चुनाव मैदान में खड़े

सभी दलों के उम्मीदवारों को उठाना पड़ा है। हुसैन का कहना है कि चुनाव में खड़ा उम्मीदवार अपनी स्थिति से भलीभांति वाकिफ होता है। लेकिन चुनाव परिणाम के दिन कुछ ऐसा रिजल्ट सामने आया कि जिस स्थान से उम्मीदवार को मत मिलना तय था वहाँ उसे शून्य मत प्राप्त हुए। उन्होंने उदहारण देते हुए बताया कि प्रभाग 19 में राष्ट्रवादी काँग्रेस की तरफ से सुशील बालपांडे उम्मीदवार थे उनके खुद के परिवार में 12 वोट हैं लेकिन उन्हें एक भी मत प्राप्त नहीं हुआ, इससे हैरानी होती है। दूसरा उदाहरण उन्होंने प्रभाग 2 का बताया जहाँ लगभग 30 हजार मतदान हुआ लेकिन रिजल्ट के दिन लगभग 32 हजार मतों की गणना हुई। उन्होंने सवाल उठाया कि ऐसे कैसे हो गया।

एवीएम मशीन में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए सभी दल के प्रतिनिधि जिलाधिकारी से मिले और जाँच की माँग की। जिलाधिकारी से मिलने वालो में हुसैन के साथ सुशील बालपांडे, सुरेश जग्यासी, तीश हरड़े, रमन ठवकर, बंडू तलवेकर, असलम मुल्ला और गौतम पाटिल शामिल थे।