Published On : Sat, Apr 10th, 2021

‘ लॉकडाउन ‘ कारोबार के लिए ‘ डेथ वारंट ‘

गोंदिया के व्यापारियों ने गांधीवादी तरीके से किया प्रदर्शन

गोंदिया कोरोना महामारी के बढ़ते खतरे को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार द्वारा जारी किए गए ‘ ब्रेक द चैन ‘ लॉकडाउन पर गोंदिया जिले के व्यापारी संगठनों ने अपनी नाराजगी जताते हुए कहा- यह कारोबारियों के लिए डेथ वारंट के रूप में जारी किया गया लॉक डाउन है।
शादी के सीजन के टाइम पर 25 दिनों तक दुकानें बंद रहने से उनका धंधा चौपट हो जाएगा।

सरकार द्वारा लगाए गए तालाबंदी के खिलाफ 9 अप्रैल शुक्रवार सुबह 11:30 बजे से कपड़ा , रेडीमेड , इलेक्ट्रॉनिक, इलेक्ट्रिकल्स , हार्डवेयर , मोबाइल शॉप , ज्वेलर्स , स्टेशनरी विक्रेता आदि व्यापारियों ने ने अपनी-अपनी बंद दुकानों के सामने खड़े हो कर गांधीवादी तरीके से आंदोलन किया, व्यापारियों ने अपने हाथों में

गैरव्यावहारिक लाकडाउन पर विरोध दर्शाते हुए बैनर पोस्टर लिए हुए थे।
गांधीवादी तरीके से शांतिपूर्ण प्रदर्शन के दौरान व्यापारीयों ने थाली और घंटी बजाकर सोई सरकार को जगाने का प्रयास करते हुए कहा- गोंदिया जिला प्रशासन द्वारा जारी अधिसूचना में कई विसंगतियां हैं लिहाजा हम समान अधिकार की मांग करते हैं और सरकार के विसंगतियों से भरे इस आधे-अधूरे लाकडाऊन आदेश को वापस लेने की गुहार लगाते हैं।

कपड़ा व्यापारी संघ के प्रतिनिधि का कहना था कि- बचपन में पढ़ाया जाता था कि रोटी , कपड़ा और मकान जीवन की मुख्य आवश्यकता है लेकिन सरकार के इस बेतुके आदेश में कपड़ा आवश्यक वस्तुओं में सम्मिलित नहीं है इसलिए हमें शांतिपूर्ण तरीके से गांधीवादी रूप में सरकार का ध्यान आकर्षण करने हेतु आंदोलन प्रदर्शन हेतु विवश होना पड़ा है।

गौरतलब है कि व्यापारियों के 9 अप्रैल शुक्रवार को प्रदर्शन आंदोलन का ऐलान को देखते हुए
जिला पुलिस प्रशासन द्वारा गांधी प्रतिमा , गोरेलाल चौक , श्री टॉकीज चौक , मेन रोड , दुर्गा चौक , चांदनी चौक , शारदा वाचनालय चौक , नगर परिषद कार्यालय के सामने , नेहरू चौक आदि स्थानों पर व्यापक पुलिस बंदोबस्त की व्यवस्था की गई थी।

वीकेंड लाक डाउन , बाजार और सड़कों पर सन्नाटा पसरा
सनद रहे अति आवश्यक अति जीवन आवश्यक वस्तुओं की दुकानों को छोड़कर गैर जरूरी चीजों की दुकानों को सरकार ने बाजार में भीड़ कम करने के उद्देश्य से 5 अप्रैल से 30 अप्रैल तक बंद रखने का फैसला लेते हुए धारा 144 लागू की है साथ ही शुक्रवार रात 8:00 बजे से सोमवार सुबह 7:00 बजे तक वीकेंड लाक डाउन का ऐलान किया गया है ।

आज शनिवार 10 अप्रैल सुबह से गोंदिया जिले की समूची सड़कों तथा बाजारों में सन्नाटा पसरा है हर तरफ वीरानी छाई है।
लोगों से अस्पताल और दवाइयों हेतु जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकलने की अपील की गई है।
जिला पुलिस प्रशासन ने शुक्रवार रात से ही शहर के मुख्य चौराहों पर बैरिकेडिंग तथा नाकाबंदी करते हुए मोर्चा संभाल रखा है।

रवि आर्य