Published On : Sun, Oct 11th, 2020

महादुला मे मुर्दाखोर कबर बिज्जू देखा गया

कोराडी: शमशान् एवं कब्रिस्तान में मुर्दा खाने वाले कबरबिज्जू निकलने की घटना से शिवाजी नगर परिसर में भय व्याप्त है बताते हैं कि वन्यजीव मुर्दाखोर प्राणी कबरबिज्जू ने विधुत कालोनी से सटे शिवाजी नगर महादुला स्थित व्यवसायी अजाबराव गाड़गे के घर में प्रवेश किया। वह अपने आहार की तलाश में कालोनी परिसर में भटकता रहा होगा और कुत्तों के हमले से बचने वह कंपाउंडर दीवार फांदकर खिडकी से घर के अंदर पंहुच गया होगा? खबर मिलते ही वन विभाग की टीम उसे पकड़ने की सामग्री लेकर पंहुची, परंतु वह देखते ही देखते वह चंपत हो गया।खबर से परिसर में दहशत बनी हूई है।

बता दें कि खतरनाक वन्य जीव बिज्जू अक्सर जंगल य कब्रिस्तान में रहता है। बताया जाता है कि यह जानवर इंसान हमला कर उसे अपना शिकार करने मे माहिर होता है.

वन्यजीव विशेषज्ञों के अनुसार वह मुर्दाखोर बिज्जू मुर्दा की तलाश में इधर उधर भटकता रहता है?मुर्दा अंगों की गंध उसे अपनी तरफ खींच ले आती है।बताते है कि वर्तमान परिवेश देश भर में भ्रूण हत्या(गर्भपात) की घटनाएं बहुत हो रही है? उसी प्रकार बदनामी के भय से अपने जन्मजात अवैध संतान (शिशु) को कचरे के ढेर य नालियों में फेक दिया जाता है और उसी की तलाश में कबर बिज्जू आहार के लिए भटकते इधर उधर भटकते रहते है


श्‍मशान घाट और कब्रिस्‍तान में पाया जाता है

यह वन्य प्राणी अधिकांश कब्रिस्तानों व श्मशानों मे पाये जाते है ताकि वह मुर्दों को अपना भोजन बना सके। इतना ही नहीं उक्त जीव के बारे में यहां तक कहा जाता है कि मौका मिलने पर यह जलती चिता से भी मुर्दे को खींचकर भाग जाते है।

यह प्राणी कोलार नदियों तट पर स्थित खापरखेडा तथा नांदा कोराडी के शमशान घाट तथा कब्रिस्तान के इर्द-गिर्द बहू संख्या में जाता है। जो मरे जानवरों के आहार के लिये घूमते रहते है.