Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Fri, Nov 13th, 2020

    DC का EMD,SD लौटने के लिए सक्रिय हैं SE,EE

    – मनपा में ग़ैरकृतकर्ताओं के पक्ष में खुलेआम खड़ा दिख रहा प्रशासन,पदाधिकारी मौन

    नागपुर : मनपा में सीमेंट सड़क फेज-2 में टेंडर घोटाले सह भुगतान घोटाले की पोल परत-दर-परत खुलते जा रही,इस मामले में प्रशासन,पदाधिकारियों की चुप्पी के साथ ही मनपा के विवादास्पद व दोषी ठेकेदार DC GURUBAKSHANI के जमा EMD और SD को लौटाने के लिए SE मनोज तालेवार और लकड़गंज जोन के EE सक्रीय दिखे।इस घटनाक्रम से यह साफ़ हो चूका हैं कि मनपा में सम्पूर्ण ‘दाल ही काली हैं’.इस मामले में मनपा वित्त विभाग क्या भूमिका निभाता हैं यह देखने लायक रहेगा।

    याद रहे कि कुछ वर्ष पूर्व नागपुर में राष्ट्रीय महापौर परिषद् हुआ था,तब बतौर मुख्य वक्ता वर्त्तमान केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा था कि मनपा हर साल डामर सड़क बना रही,जिसका प्रस्ताव नगरसेवकों द्वारा दिया जाता और हर साल सड़कें जर्जर हो जाती हैं अर्थात सड़क निर्माण में भ्रष्टाचार हो रहा.इसी से निजात दिलवाने हेतु नितिन गडकरी ने सीमेंट सड़क की संकल्पना शहर में लाई,जो आज सम्पूर्ण देश में शुरू हैं.

    गडकरी के सकारात्मक स्वप्न को मिटटी पलित करने के लिए मनपा अधिकारियों ने वर्ष 2016-17 में सीमेंट सड़क फेज-2 में भ्रष्टाचार करने के लिए JV ( JOINT VENTURE ) का CONCEPT लाया और भ्रष्टाचार को सफल अंजाम देने के लिए सीमेंट सड़क मामले में अनुभवहीन ठेकेदार DC GURUBAKSHANI को जबरन ठेका देने के लिए प्रोत्साहित किया,तब अनुभवी ठेकेदार कंपनी M/S ASHWINI INFRA के साथ DC GURUBAKSHANI ने करार किया।ठेका प्राप्ति का टेंडर शर्त पूरा न करने के बावजूद मनपा प्रशासन के सम्बंधित तत्कालीन EE मनोज तालेवार के नेतृत्व में भ्रस्टाचार को सफल अंजाम दिया गया.

    इसके बाद जब भुगतान की बारी आई तो तत्कालीन EE मनोज तालेवार और तत्कालीन CAFO,ACCOUNT OFFICER ने समझौता कर RUNNING BILL के नाम पर करोड़ों रूपए DC GURUBAKSHANI समूह के PERSONAL खाते में जमा करवाकर अपनी मलाई उठा लिये।जबकि टेंडर शर्त के अनुसार JV का नया नाम,नया PAN CARD और नया खाता खोलना जरुरी ही नहीं अनिवार्य था.

    उक्त धांधली से सम्बंधित सभी कागजात,सबूत एक बार नहीं बल्कि 3-3 बार EE,SE,CE,काफो,COMMISSIONER,MAYOR और CHAIRMAN,STANDING COMMITTEE,सहित STATE UD-2 को देने के बावजूद सभी मौन बैठे हैं.इसका फायदा उठाकर SE MANOJ TALEWAR और DC GURUBAKSHANI के प्रतिनिधि RAJU मामला उजागर करने वाले को अड़ा रहे.और तो और मनपा के इस दोषी विवादास्पद ठेकेदार DC GURUBAKSHANI के जमा EMD और SD को लौटाने के लिए SE मनोज तालेवार और लकड़गंज जोन के EE सक्रीय दिखे।क्या मनपा की सम्पूर्ण दाल काली हो चुकी हैं ?

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145