Published On : Mon, Oct 11th, 2021

दारोडकर्स श्री मेहेर ज्वेलर्स के नए शोरूम को मिला जगमगाता रिस्पॉन्स

नागपुर: शहर के सबसे पसंदीदा ज्वेलरी डेस्टिनेशन – दारोडकर्स श्री मेहेर ज्वेलर्स ने इस नवरात्रि को और भी शानदार बना दिया है, जहां इसे ग्राहकों की ओर से जबर्दस्त प्रतिसाद मिल रहा है। दारोडकर्स श्री मेहेर ज्वेलर्स ने 10 अक्टूबर को अपनी 50 वीं वर्षगांठ पर नागपुर में धरमपेठ, झंडा चौक पर अपने सुव्यवस्थित और अत्याधुनिक आलीशान नए शोरूम का उद्घाटन किया।

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने शोरूम का उद्घाटन करते हुए शुभकामनाएं दीं। इस अवसर पर भाजपा के वरिष्ठ नेता देवेंद्र फडणवीस मौजूद थे | यह शोरूम 4500 स्क्वेयर फीट जगह में फैला हुआ है, जहां ग्राहकों को खरीदी का बेहतरीन अनुभव मिलेगा। यह सुसज्जित शोरूम अब ग्राहकों के लिए पूरी तरह से खुल चुका है। दारोडकर्स श्री मेहर ज्वेलर्स अपने उद्घाटन अवसर पर ग्राहकों को ज्वेलरी पर दससहरा तक 9% मेकिंग चार्जेस का ऑफर दे रहा है।

शोरूम की विशेषता यह है कि यहां एंटीक, जड़ाऊ ज्वेलरी, डायमंड ज्वेलरी, हैवी वेट ज्वेलरी तथा एक औरत की सुंदरता में चार चांद लगाने वाला अनकट पोल्की कलेक्शन, नई पीढ़ी को आकर्षित करने वाला ग्रीन ज्वेलरी सिग्नेचर कलेक्शन शामिल हैं। नए शोरूम में ग्राहकों की सुविधाओं का विशेष ध्यान रखा गया है। सभी तरह के गहनों के लिए अलग-अलग काउंटर बनाए गए है। उसी प्रकार सीताबर्डी में चांदी के बर्तनों का एक्सक्लूसिव शोरूम है, जहां नए जमाने की फैशन प्रेमी युवा पीढ़ी को देखते हुए चांदी की एक्सक्लूसिव ज्वेलरी उपलब्ध कराई गई है। इस शोरूम की विशेषता चांदी की एक्सक्लूसिव ज्वेलरी है, जिसे काफी अच्छा प्रतिसाद मिल रहा है। लाइटवेट और कम कीमत वाली यह ज्वेलरी युवा पीढ़ी को खूब लुभा रही है। अब चांदी की लाइटवेट ज्वेलरी की मांग भी बढ़ती जा रही है।

50 साल बाद दारोडकर्स श्री मेहेर ज्वेलर्स की कमान अब तीसरी पीढ़ी के हाथ आ रही है। दारोडकर ज्वेलर्स की नींव वर्धा जिले के आर्वी तहसील निवासी शेषराव केशवराव दारोडकर ने रखी थी। उनके बेटे सुधीर और प्रशांत दारोडकर भी व्यवसाय में उनका हाथ बंटाने लगे। आज इस व्यवसाय में उनकी तीसरी पीढ़ी भी आ चुकी है। सुधीर दारोडकर के पुत्र सीए हर्षल दारोडकर और प्रशांत दारोडकर के पुत्र अनिरूद्ध दारोडकर भी बिजनेस से जुड़ रहे हैं।

हर्षल ने नई तकनीक का इस्तेमाल कर व्यापार को और आगे बढ़ाने का काम किया है। इस नए शोरूम में वरिष्ठों का अनुभव और नई पीढ़ी की तकनीकी का समन्वय देखने को मिलेगा। दादा और पिता के अनुभव का उपयोग नई पीढ़ी काफी अच्छी तरह से कर रही है। सीए हर्षल दारोडकर जेमोलॉजिस्ट हैं और शोरूम में नई तकनीक के इस्तेमाल पर उन्होंने बहुत ज्यादा ध्यान दिया है।