Published On : Sat, May 20th, 2017

मेडीकल प्रशासन की कार्रवाई से पहले पार्किंग चालक पंहुचा कोर्ट


नागपुर:
 मेडिकल अस्पताल के पार्किंग में मरीजों और उनके परिजनों की होने वाली लूट पर नागपुर टुडे ने दो दिन पहले प्रकाश डाला था. अस्पताल प्रशासन की ओर से समस्या सुलझाने का आश्वासन दिया गया था. दो दिन बाद जब इस समस्या को लेकर मेडिकल अस्पताल के डीन डॉ. अभिमन्यु निसवाडे से बात की गई तो उन्होंने बताया कि जिस मोटरसाइकिल स्टैंड वाले को यह टेंडर दिया था उस समय पार्किंग शुल्क 3 रुपए लेने का करार किया गया था.पार्किंग का टेंडर साल के 2 लाख 50 हजार में दिया था. उन्होंने यह भी बताया कि मेडीकल अस्पताल में आनेवाले मरीजों और उनके परिजनों की तादाद बढ़ गई है. जिसके आधार पर स्टैंड का कांट्रेक्टर साल भर में करीब डेढ़ करोड़ रुपए कमाता है.


उन्होंने कांट्रेक्टर के सन्दर्भ में जानकारी देते हुए बताया कि यह स्टैंड चालक अपनी मनमानी कर रहा है और जबरन लोगों से 5 रुपए वसूल कर रहा है. यह जानकारी कुछ महीने पहले मेडिकल प्रशासन को मिली थी. जिसके कारण यह करार रद्द करने का निर्णय भी लिया गया था. लेकिन स्टैंडचालक ने कोर्ट में केस दायर किया है.कोर्ट में केस दायर है और यह स्टैंडचालक लोगों से 2 रुपए अतिरिक्त वसूल रहा है. मेडिकल प्रशासन की ओर से भी स्टैंडचालक के खिलाफ कोर्ट में केस दर्ज कराया गया है. कुछ ही दिनों में कोर्ट का निर्णय आएगा, जिसके बाद ही इंसाफ मिल पाएगा.