Published On : Sat, Sep 12th, 2020

– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ युवती कांग्रेस ने किया विरोध प्रदर्शन, जमकर लगाए नारे और मांगा इस्तीफा

नागपुर – कोरोना का कारण नमस्ते ट्रंप और मध्य प्रदेश में सरकार बनाने को लेकर सही समय पर सही निर्णय नहीं लेने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ठहराते हुए देश में बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी और महिलाओं पर आए दिन अन्याय अत्याचार के खिलाफ नागपुर में जरिपटका चौक पर युवती कांग्रेस की ओर से प्रधानमंत्री के खिलाफ जमकर विरोध प्रदर्शन किया गया और प्रधानमंत्री का इस्तीफा मांगा गया ।

कोरोना महामारी और आर्थिक संकट के लिए पूर्ण रूप से जिम्मेदार प्रधानमंत्री के खिलाफ जरिपटका में युवती कांग्रेस ने अपने हाथों में चूल्हा चौका और घर का सामान लेकर विरोध प्रदर्शन किया, प्रदर्शन के दौरान युवतियों का कहना था कि प्रधानमंत्री अपने काम में पूरी तरह से नापास हुए हैं, उन्होंने जनता के साथ जो भी वादे किए थे वह सभी झूठे निकले नोटबंदी, अच्छे दिन का वादा और 20 लाख करोड़ के पैकेज की घोषणा बहुत जोर शोर से की लेकिन किसी को कुछ नहीं मिला।

आंदोलन करने वालों ने कहा कि प्रधानमंत्री ने बार-बार केवल झूठ बोला है और देश की महिलाओं के साथ अच्छे दिन का वादा कर सभी को धोखा दिया है।

युवती कांग्रेस अध्यक्ष ज्योति खोबरागड़े ने कहा कि सभी महिलाओं को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के साथ आगे आना चाहिए और इस झूठी केंद्र की सरकार के खिलाफ में अपने हक की लड़ाई लड़ना चाहिए। देश के अंदर कोरोना महामारी भगवान की मर्जी से नहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मन मर्जी से फैला है अगर सही समय पर लॉकडाउन किया जाता और विदेश से आने वाले यात्रियों पर प्रतिबंध लगाया होता तो आज भारत देश के अंदर कोरोना इतना विकराल रूप नहीं ले पाता।

देश का संविधान, न्यायपालिका को खतरा बताते हुए भारत माता के रूप में युवतियों ने सड़क पर आकर प्रदर्शन किया। भारत में आज लाखों की संख्या में कोरोना फैला और बढ़ रहा है। जिसकी वजह से आज देश की अर्थव्यवस्था, महिलाओं की सुरक्षा, युवाओं को रोजगार सब खतरे में है। प्रदर्शन के दौरान भारी संख्या में पुलिस बल मौजूद था।

विरोध प्रदर्शन ज्योति खोबरागड़े के नेतृत्व में किया गया। इस दौरान मुख्य रूप से प्रदेश महासचिव और नागपुर जिला के प्रभारी श्रीनिवास नालमवार, अजीत सिंह, राकेश निकोसे, सतीश पाली, सोनू खोबरागड़े, सचिन वासनिक, चेतन तरारे, आकाश इंदुरकर, इशवर निचवानी, बाबु खान, विजया शेडे, सिमरन शेंडे, ज्योति मरसकोल्हे, आकांक्षा गायकवाड, कोमल राऊत, सलोनी रामटेके के साथ भारी संख्या में युवतियों ने प्रदर्शन में भाग लिया।