Published On : Mon, Nov 1st, 2021

BLACKLIST COMPANY को वेकोलि में वाहनापूर्ति का ठेका !

– क्षेत्रीय प्रबंधन के भ्रष्टाचार की कलई खुली

नागपूर: कोल इंडिया लिमिटेड की सहायक कंपनी वेस्टर्न कोल फिल्ड्स लिमिटेड(WCL) में BLACKLIST COMPANY को वाहन आपूर्ती का ठेका की कलई खुलते ही कोयला अंचल में मामला गर्मा गया हैं.मामले की कोल इंडिया लिमिटेड के चेयरमैन को शिकायत की गयी है.

प्राप्त जानकारी के मुताबिक वेकोलि के माजरी कोयला खदान एरिया मे गैरकानूनी कार्यप्रणालियों की वाह से मेसर्स: श्री बालाजी ट्रवल्स गोंदिया को ब्लैकलिष्ट कर लिया गया था,बावजूद भी वेकोलि के वनी नार्थ क्षेत्रीय प्रबंक कार्यालय द्वारा इसी ब्लैकलिष्ट फर्म मेसर्सः श्री बालाजी ट्रवल्स को मैनपावर का आवार्ड याने वाहन आपूर्ती का ठेका दे लिया गया.


उल्लेखनीय है कि वेकोलि के वणी नार्थ येरिया के लिए वाहन आपूर्ती का ठेका दिया गया जबकि इस कार्य के लिए मेसर्सः व्यंकटेश ट्रवल्स की गाडी चलाई जा रही है,यह फर्म बालाजी ट्रवल्स के नियोक्ता संदीप की धर्मपत्नी सौ मधु के नाम है.इस व्यंकटेश ट्रवल्स द्वारा पिछले 15-20 सालों से श्रमिकों की ESIC चोरी, EPF चोरी,न्यूनतम वेतन चोरी अन्य भत्ता चोरी,की जांच शुरु है.इतना ही नही इस ई-निविदा ठेका में मैनपावर बस न चलते हुए स्कूली बसेस चलाई जा रही है, जिसका वाहन नंबर M H 35 AJ 0576 है.

सूत्रों की माने तो इस स्कूली बसेस मे 24 घंटे बिना क्लीनर के वही 1 चालक बसेस परिचालन करता है l उक्त बस चालक को ड्यूटी के दौरान यदि नींद की झपकी आ गयी तो किसी प्रकार की संभावित सडक दुर्घटना से इंकार नहीं किया जा सकता है. तत्संबंध मे आल इंडिया सोसल आर्गनाईजेशन ने वेकोलि के मुख्य प्रबंध निदेशक और सतर्कता विभाग से जबाव मांगा है कि वेकोलि केवणी नार्थ क्षेत्र के क्षेत्रीय प्रबंधन द्वारा उक्त ब्लैकलिष्ट कंपनी को किस अधार पर ई-निविदा ठेका पास किया गया ? तथा किस अधार पर ब्लैकलिष्ट फर्म को वाहन आपूर्ती की अनुमति प्रदान की गयी है ? इसके अलावा किस अधार पर उक्त ब्लैकलिष्ट कंपनी को कार्यों का भुगतान किया जा रहा है. वेकोलि मे इस प्रकार के गैरकानूनी कार्यप्रणालियों की कोल इंडिया लिमिटेड की सभी अनुसांगिक कंपनियों के CMD, मुख्यालयों,क्षेत्रीय महाप्रबंधकों,क्षेत्रीय प्रबंधन तथा सतर्कता विभाग परिक्षेत्रों थू-थू हो रही है.मामले की जांच पडतात समय की मांग है.