Published On : Thu, Apr 11th, 2019

आ देखे जरा.. किसमें, कितना है दम !

गोंदिया-भंडारा सीट दोप. 1 बजे तक 36% मतदान

गोंदिया: गोंदिया-भंडारा सीट पर कब्जा करने के लिए भाजपा तथा एनसीपी के बीच चुनावी जंग छिड़ी है। शुरूवाती रूझानों के बीच दोनों ही दलों में कांटे की टक्कर दिखायी दे रही है। भाजपा ने जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस जैसे दिग्गज नेताओं का चुनाव प्रचार में सहारा लिया वहीं राष्ट्रवादी कांग्रेस के सुप्रिमो शरद पवार, कद्दावर नेता प्रफुल पटेल, पूर्व उपमुख्यमंत्री छगन भुजबल जैसे नेताओं ने अपने प्रत्याक्षी के लिए प्रचार सभाएं लेकर जनता से जनसमर्थन मांगा।

11 अप्रैल गुरूवार सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक इस सीट के लिए 2184 मतदान केंद्रों पर वोटिंग जारी है। गोंदिया, तिरोड़ा, अर्जुनी मोरगांव, साकोली, भंडारा, तुमसर इन 6 विधानसभा क्षेत्रों के कुल 18 लाख 8 हजार 948 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग, पंसदीदा उम्मीदवार के चयन हेतु कर रहे है। सुबह 9 बजे तक मतदान की रफ्तार सुस्त थी जिसमें अब 12 बजे के बाद भारी गति आयी है।

कयास लगाये जा रहे है कि, इस बार 80 प्रतिशत से अधिक वोटिंग होगी? इस सीट पर कुल 14 उम्मीदवार भाग्य आजमा रहे है। मुख्यतः मुकाबला भाजपा-शिवसेना तथा कांग्रेस- राष्ट्रवादी गठबंधन के बीच ही देखा जा रहा है। बहुजन समाज पार्टी की टिकट पर क्षेत्र से एकमेव महिला प्रत्याक्षी त्रिकोणीय मुकाबले में है। वहीं गोंदिया जिले के आदिवासी बाहूल देवरी, सालेकसा तहसील के देहात क्षेत्रों के मतदान केंद्रों पर बहुजव वंचित पार्टी उम्मीदवार के पक्ष में भी वोट पड़ रहे है।

जीत का सहेरा किसके सिर सजेगा? यह तो 23 मई को चुनावी पिटारा खुलने के बाद ही तय होगा? बहरहाल कार्यकर्ता कड़ी धूप में भी अपने वोटरों को निकालकर मतदान केंद्रों तक लाने में जुटे है। सुबह 7 से 11 बजे के बीच 21 प्रतिशत मतदान संपन्न हुआ। वहीं दोपहर 1 बजे तक यह आकड़ां 36 प्रतिशत तक पहुंच चुका है।

गोंदिया विधानसभा के 13 मतदान केंद्रों की मत मशीनें बिगड़ी
गोंदिया विधानसभा के 361 मतदान केंद्रों में से 13 मतदान केंद्रों से वीवीपैट व ईवीएम के नादुरुस्त होने की शिकायतें सुबह 10 बजे आने लगी। जिला निर्वाचन आयोग ने तत्काल ही इन मतदान केंद्रों से आ रही शिकायतों पर संज्ञान लेना शुरू किया।
उपविभागीय अधिकारी (एसडीओ) अनंत वालस्कर ने जानकारी देते बताया, मतदान केंद्र क्रमांक 276, 343, 13, 321, 327, 247, 281 में वीवीपैट और ईवीएम मशीन बदल दी गई है। यहां कही 15 मिनट तो कहीं 10 मिनट मतदान की प्रक्रिया थमी रही। अन्य जिन मतदान केंद्रों से शिकायतें प्राप्त हुई वहां की भी मशीनें दुरूस्त कर ली गई है। हमारे पास गोंदिया विधानसभा हेतु 82 वीवीपैट व ईवीएम मशीनें रिर्जव में रखी हुई है। इसलिए ओर भी कुछ शिकायतें आती है तो उसका भी निराकरण कर लिया जायेगा।

डेढ़ लाख मतों से होगी जीत – सुनील मेंढ़े
शिवसेना-भाजपा गठबंधन उम्मीदवार सुनील मेंढे ने मतदान करने के बाद अपनी प्रतिक्रिया देते कहा- मैं अपनी जीत के प्रति आश्‍वास्त हूं। बड़े नेताओं के दौरे से और मतदाताओं के भारतीय जनता पार्टी को मिल रहे आर्शिवाद से यह सीट हम डेढ़ लाख से अधिक वोटों से जितेंगे। नागरिकों से मेरा अनुरोध है कि, वे मतदान केंद्रों पर पहुंचकर शतप्रतिशत मतदान करें।

उपचुनाव से भी बड़े अंतर से होगी जीत – प्रफुल पटेल
2018 के लोकसभा उपचुनाव के जीत के आंकड़े से कहीं अधिक मतों से एनसीपी यह सीट जीतेगी। 2014 में गोंदिया-भंडारा के मतदाताओं द्वारा की गई गलती को यह दुरूस्त करने का वक्त है, एैसा वातावरण मुझे दिखायी पड़ रहा है। क्षेत्र से चुनाव प्रफुल पटेल लड़े एैसी सभी की तीव्र इच्छा थी लेकिन मेरे राज्यसभा सदस्यता का कार्यकाल अभी बाकि है। पार्टी की ओर से यह निर्णय लिया गया कि, मैं राज्यसभा से हूं और यह सीट एनसीपी अपनी झोली में लाकर इस क्षेत्र को 2 सांसद प्रदान कर सकती है लिहाजा जिला परिषद, विधानसभा और मंत्री मंडल का अनुभव रखने वाले नाना पंचबुद्धे को हमने प्रत्याक्षी बनाया और उम्मीदवार को प्रफुल पटेल का समर्थन है यह गोंदिया-भंडारा जिले की जनता जानती है, इसलिए मैं आश्‍वस्त हूं, यह सीट एनसीपी जीतेगी।