Published On : Sat, Dec 17th, 2016

दिशाहीन विपक्ष के पास भूमिका का अभाव – मुख्यमत्री

cm-devendra-fadnavis
नागपुर: शीतकालीन अधिवेशन शनिवार को समाप्त हुआ. अधिवेशन के दौरान २७ विधेयक सदन के पटल पर आये जिनमे से २३ विधेयक पास हुए जबकि विधानसभा में तीन और परिषद में एक विधेयक प्रलंबित है.सत्र की समाप्ति के बाद सत्ता पक्ष द्वारा आयोजित पत्रकार परिषद को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा की हंगामे के बीच बढ़िया कामकाज हुआ है. स्थानिक स्वराज संस्था के साथ अन्ना हजारे की शराब बंदी की संकल्पना पर आधारित ग्रामरक्षा दल की स्थापना का कानून बनाया गया है.

यह अधिवेशन विदर्भ के लिए होता है और हमने विदर्भ विकास के लिए किये गए कामो का हिसाब दिया समस्याओं पर चर्चा की.विदर्भ के विकास के लिए सरकार द्वारा तैयार किये गए रोड मैप की जानकारी दी. दोनों सदनों में मराठा आरक्षण , नोटबंदी पर सार्थक चर्चा की. सरकार को सपनेबाज सरकार बताने वाले विपक्ष को प्रतिउत्तर देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा विपक्ष के पास अब सपना देखने के अलावा कोई काम नहीं है हमने आकड़ो के साथ दावा रखा है और भविष्य में क्या करेगे ये भी बताया है. मुख्यमंत्री ने विपक्ष से विदर्भ के विकास पर राजनीति न करने की अपील करते हुए नागपुर पुणे महामार्ग को किसानों के लिए समृद्धि मार्ग बताया. इस सब के बीच आज ही शिवसेना प्रमुख द्वारा सरकार पर की गई टिपण्णी पर किये गए सवाल को टाल दिया.

Advertisement

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement