Published On : Wed, Jul 25th, 2018

मानकापुर रेलवे अंडरब्रिज से फूटा जलप्रपात

नागपुर: छिंदवाड़ा मार्ग पर राष्ट्रीय महामार्ग प्राधिकरण ने आरओबी का निर्माण किया. इस आरओबी से रेलवे पटरी के दोनों ओर के नागरिकों ने मांग की थी कि दोनों ओर आवाजाही के लिए अंडरब्रिज का निर्माण किया जाये. देर-सवेर अंडर ब्रिज का निर्माण भी हुआ, लेकिन पहली बारिश ने निर्माणकार्य की पोल खोल दी. जरा सी बारिश में आवाजाही तो बाधित होती ही है, साथ ही अंदर ब्रिज के भीतरी हिस्से में कई छेद हो गए जहाँ से हमेशा जलधारा बहकर अनगिनत शंकाओं को जन्म दे रही है.

ओमनगर के रहवासियों ने उक्त अंडरब्रिज की मांग लम्बे अर्से तक करने वालों का नेतृत्व भाजपावाले कर रहे थे. इसलिए कई दफे निर्माणकार्य में बाधा भी डालने पर सकारात्मक तरजीह दी गई. अनशन-आंदोलन के बाद सत्ताधारियों ने अपने कार्यकर्ताओं को तरजीह देते हुए अंडरब्रिज के निर्माण की घोषणा की. निर्माणकार्य राष्ट्रीय महामार्ग प्राधिकरण ने शुरू की, लेकिन काफी धीमी गति से. जनता यह समझ रहे थे कि व्यस्त दिल्ली मार्ग के नीचे से अंडरब्रिज का निर्माण कार्य कठिनाई भरा होगा, इसलिए समय लेकर और मजबूत काम हो रहा है.

जैसे-तैसे निर्माणकार्य हुआ, फिर जल्दबाजी में जैसे थे के रूप में उद्घाटन किया गया.

उक्त अंडरब्रिज ने पहली बरसात में अपने निर्माणकार्य की हकीकत से आवाजाही करने वालों को रु-ब-रु करवा दिया. दोनों ओर का मार्ग ऊँचा और अंडरब्रिज नीचे हो जाने से ज़र सी बूंदाबांदी में पानी निकासी नहीं हो पाता. और तो और अब तो अंडरब्रिज में आधा दर्जन के करीब जलप्रपात फूट गए हैं.

उक्त मामले को लेकर विशेषज्ञों की राय ली गई तो तो उनका मानना है कि निर्माणकार्य घटिया होने से उक्त समस्याए उत्पन्न हुई. शीघ्र समस्या का निराकरण नहीं किया गया तो अंडरब्रिज की दीवार धंस सकती है.

– राजीव रंजन कुशवाहा