Published On : Fri, May 29th, 2015

चंद्रपुर : मां-बेटी को जहर पिलाने वाला वह तीसरा व्यक्ति कौन था?


मां के बाद बेटी की भी मौत

चंद्रपुर। स्थानीय भिवापुर वार्ड माता मंदिर परिसर निवासी लक्ष्मी येमुलवार व उसकी मां पुष्पा चित्तलवार कल भिवापुर के मकान में बेहोशी की हालत में मिलने पर दोनों को अस्पताल ले जाया गया. जहां अस्पताल देर में मां को मृत घोषित कर दिया गया था. जबकि बेटी की हालत गंभीर बाताई जा रही थी. उसके बाद उपचार के दौरान बेटी की भी मौत हो गई. पुलिस को जांच के दौरान लक्ष्मी के घर से तीन शरबत के ग्लास मिले, जिसके आधार पर पुलिस उनकी मौत की गुत्थी सुलझाने में जुटी है. पुलिस को आशंका है कि मां-बेटी को शरबत में जहर मिलाकर पिलाया था.

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार लालपेठ निवासी षुष्पा चित्तलवार अपनी बेटी लक्ष्मी से मिलने उसके ससुराल बुधवार को भिवापुर आई थी. शाम को लोगों ने उन्हें बेहोशी की हालत में देखा और पुलिस को सूचना दे दी. पुलिस ने उन्हें अस्पताल पहुंचाया.

बताया गया कि लक्ष्मी को संतान नहीं थी. उसका पति मजदूरी करता है. घटना के दिन बुधवार को वह काम पर गया था. शाम 6-7 बजे पुलिस जब मौके पर पहुंची तो वहां सिर्फ मां-बेटी बेहोशी की हालत में पड़ी हुई मिली. वहां तीसरा कोई नहीं था. जांच में पुलिस को घर में टेबल पर शरबत के तीन ग्लास मिले, जिसमें से दो ग्लास खाली थे तथा एक भरा था. पुलिस ने उक्त ग्लास जब्त किया कर लिया है. पुलिस का मानना है कि शरबत पीते समय जो व्यक्ति उनके साथ था उसने ही शरबत में जहर मिलाया होगा. इस शरबत को जांच के लिए भेजा जा गया है. उसकी रिपोर्ट आने पर कुछ प्रमाण मिलने की संभावना है. जबकि तीसरा ग्लास किसका था? इसका पता चलते ही सारा मामला सामने आने की संभावना है.


Representational pic

Representational pic