| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Wed, Jan 9th, 2019

    सभापति ने सभापति की खड़ी कार को ठोका

    परिवहन सभापति के चालक के शिवाय कोई गंभीर नहीं दिखा

    नागपुर: शिष्टाचार से लबरेज पक्ष मनपा में सत्ता पर आसीन हैं.बावजूद पक्ष के पदाधिकारी शिष्टाचार का पालन करने में आनकानी ही नहीं करते बल्कि अपनी गलती स्वीकारने के बजाय आँख-भौ सिकोड़ते देखे गए. हुआ यूँ परिवहन सभापति को लेकर कल दोपहर उनका चालक मनपा मुख्यालय पहुंचा,उन्हें तय जगह उतारने के बाद उसने नियमानुसार तय जगह वाहन खड़ी की और इधर-उधर चला गया.इसके कुछ देर बाद आनन-फानन में धरमपेठ जोन की सभापति खुद की कार से खुद चलाते हुए मनपा मुख्यालय पहुंची। इतनी जल्दबाजी में थी कि उन्होंने अपनी वाहन अधिकृत पार्किंग की जगह खड़ी करने के बजाय परिवहन सभापति के कार के बाजु में चिपकाकर खड़ी कर अपने गंतव्य स्थल की ओर चली गई.

    कुछ देर बाद परिवहन सभापति के चालक सह अन्य चालक व सुरक्षाकर्मियों की परिवहन समिति सभापति के कार के समक्ष भीड़ सह गहमागहमी शुरू हुई.तब पता चला की ,धरमपेठ जोन सभापति ने जल्दबाजी में अपनी कार खड़ी करने के चक्कर में परिवहन समिति सभापति की कार के सामने के बांयी चक्के के ऊपर खरोच लग गया.अर्थात ‘डेंटिंग-पेंटिंग’ करवानी पड़ेंगी।जिसके लेकर परिवहन सभापति के कार चालक चिंतित दिखे,सुरक्षा कर्मियों की नज़रअंदाजगी पर नाराज हुए.क्यूंकि इस जगह सिमित पदाधिकारियों के वाहन खड़ी रखने के लिए व्यवस्था की गई हैं.पुराने-अनुभवी नगरसेवक इस नियम का पालन करते हैं,नए नगरसेवक चूक जाते हैं या फिर नियम की जानकारी न होने की अनभिज्ञता दर्शाते हैं.

    परिवहन सभापति के चालक ने इसकी सूचना सभी संबंधितों को दी,इसी बीच परिवहन विभाग-समिति के दिग्गज घटनास्थल पर आये,मुआयना कर ही रहे थे कि सत्तापक्ष नेता घटनास्थल के समीप अपनी वाहन से उतरे,उन्हें भी जानकारी दी गई,उन्होंने धरमपेठ जोन सभापति को संदेशा भिजवाया और अपने गंतव्य स्थल की ओर चल पड़े.

    इसके तुरंत बाद धरमपेठ जोन सभापति घटनास्थल पर आई,और मौका चौकसी बाद अपनी गलती स्वीकारने के बजाय सुरक्षाकर्मी का दोष और परिवहन सभापति के चालक के आरोप को नज़रअंदाज कर अपनी कार वहां से निकाली और फिर अपनी गलती दोहराते हुए दो पहिये वाहन पार्किंग के सामने अपनी कार खड़ी कर दी.इस दौरान उपस्थित सभी घटना को लेकर चक्कलस करते दिखे,क्यूंकि किसी की व्यक्तिगत वाहन का नुकसान नहीं बल्कि सरकारी वाहन का नुकसान हुआ था.

    उल्लेखनीय यह हैं कि मनपा मुख्यालय में पार्किंग की व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त न होने से जिसे जहाँ इच्छा हुई,वे वहां वाहन खड़ी कर देते हैं.सुरक्षा कर्मियों ने टोका तो उनसे बुरा बर्ताव करते देखे गए,फिर बाहरी हो या मनपा का अधिकारी,पदाधिकारी,नगरसेवक।
    इसलिए स्मार्ट सिटी की मनपा का स्मार्ट पार्किंग व्यवस्था समय की मांग हैं.

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145