Published On : Wed, Oct 23rd, 2019

पर्यावरण को बचाने ग्रीन विजिल ने ‘ इकोफ्रैंडली दिवाली मनाने का अभियान चलाया

नागपुर- ग्रीन विजिल पर्यावरण संस्था ने इकोफ्रैंडली दिवाली मनाने का अभियान चलाया है. इस अभियान के अंतर्गत शंकर नगर चौक पर संस्था के कार्यकर्ताओ ने विभिन्न पोस्टर, प्लेकार्ड्स के जरिए लोगो से अत्याधिक मात्रा में पटाखे ना जलाने का आव्हान किया. संस्था के कार्यकर्ताओ ने आम जनता से पटाखो से होने वाले ध्वनि प्रदूषण एवं वायु प्रदुषण के बारे में भी चर्चा की.

ग्रीन विजिल की टीम लीड सुरभि जैस्वाल ने बताया की पटाखों के फटने से भारी मात्रा में कैडमियम (cadmium) एवं (लीड ) lead जैसे हेवी मेटल्स का उत्सर्जन होता है, इसी के साथ साथ कॉपर, जिंक, सोडियम, पोटैशियम जैसे धातुओ का भी उत्सर्जन होता है एवं वातावरण में सस्पेंडेड पार्टिकुलेट मैटर एवं धुए की मात्रा बढ़ जाती है. जिससे दमा, सिरदर्द, रक्तचाप में वृद्धि, स्किन एलर्जी, आँखो में जलन, श्वसन समस्याएँ आदि, काफी मात्रा में बढ़ जाती है. इसलिए हमें इससे परहेज करना चाहिए.

ग्रीन विजिल के डेप्युटी टीम लीड मेहुल कोसुरकर ने कहा की इस अभियान को उन्हें काफी अच्छा प्रतिसाद मिला, काफी लोगों ने अपने वाहन रोककर संस्था के सदस्यों से इस विषय पर चर्चा करी. संस्था के सदस्य दिवाली तक घर घर जाकर यह अभियान चलायेंगे.

अभियान को सफल बनाने के लिए कौस्तव चटर्जी, सुरभि जैस्वाल, मेहुल कोसुरकर, शक्ती रतन, शीतल चौधरी, बिष्नुदेव यादव, नम्रता झवेरि, वृषाली शहाने, दिगम्बर नागपुरे, कार्तिकी कावळे, अद्विक दासगुप्ता, अविनाश लहेवार , विनीत काले, हस्ती झवेरि , आनन्द जैन , प्रणीत झाड़े , संकेत पाटिल, प्रवीण गोसेकर, हर्शल तल्मले, उज्ज्वल खण्डाले, कोमल बच्चील, मयुरी खडतकर, मयुर अलोणे आदि ने अथक परिश्रम किए.