| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Wed, Jul 3rd, 2019

    न्यू एरा, विनस, एचसीजी एनसीएचआरआई हॉस्पिटल पर मुख्यमंत्री कार्यालय की गिरी गाज, किया ब्लैकलिस्ट

    नागपुर: सरकारी हेल्थ स्कीमों को नियमों के मुताबिक न लागू करने के आरोपों के आधार पर नागपुर के सीएमओ (चीफ मिनिस्टर ऑफिस) ने शहर के चार नामी अस्पतालों को ब्लैक लिस्ट में डाल दिया है. इन अस्पतालों में न्यू एरा हॉस्पिटल, विनस हॉस्पिटल और कामठी के एचसीजी एनसीएचआरआई शामिल हैं.

    मिली जानकारी के अनुसार सीएमओ ने फैसला मीडिया में आई रिपोर्टों और मरीजों की ओर से मिल रही लगातार शिकायतों के आधार पर लिया. स्वास्थ्य विभाग गरीब मरीजों के लिए कई योजनाएं चलाता है. इसमें महात्मा फुले जन आरोग्य योजना भी है. लेकिन गरीब तबके के मरीजों को इस योजना का लाभ न देने की शिकायत थी. यही नहीं पेमेंट न मिलने तक अस्पतालों के रवैय्ये को लेकर भी कई शिकायतें थीं. लिहाजा मरीजों से मिली शिकायत के आधार पर स्वास्थ्य विभाग ने तीन अस्पतालों को योजना की लिस्ट से हटा दिया था. इससे पहले सीएमओ की ओर से भी एक हॉस्पिटल को ब्लैक लिस्ट करने की कार्रवाई की गई थी. योजना के तहत तय निधि से ज्यादा पैसे उगाही करने और रवैय्ये को लेकर शिकायतें कार्रवाई का मुख्य आधार है.

    बता दें महात्मा फुले जन आरोग्य योजना के तहत गरीब मरीजों की आर्थिक हालत और कागजातों के आधार पर उपचार का लाभ दिया जाता है. हाल ही में मेडिट्रिना हॉस्पिटल को नियमों की अनदेखी के चलते पैनल से हटाया गया था. इसी तरह पीएमजेवाय सेक्शन ने जीटी पडोले हॉस्पिटल, केयर हॉस्पिटल समेत कामठी के सिटी हॉस्पिटल को भी बाहर का रास्ता दिखा दिया था.

    मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से भी गरीब मरीजों को इलाज के लिए मदद दी जाती थी. लेकिन पैमेंट न मिलने के कारण कई अस्पतालों ने इस योजना के तहत इलाज करने से इंकार कर रहे थे. सीएमओ की ओर से भी चार अस्पतालों को हटाया गया है. इनमें न्यू एरा, एचसीजी एनसीएचआरआई और वीनस शामिल है. कई और भी अस्पतालों के खिलाफ शिकायतें मिलने की बात कही गई है. ऐसी लिस्ट में शामिल अस्पतालों में से कुछ ने पेमेंट न मिलने को एक बड़ा कारण बताया है.

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145