Published On : Sun, Sep 30th, 2018

बुटी पब्लिक स्कुल की तीन साल की मासूम के साथ स्कूल बस के कंडक्टर ने कि बलत्कार कि कोशिश

 

स्कुल में पढ़ रहे बच्चियों के परिजनों में दहशत का वातावरण।


बुटी पब्लिक स्कुल की लापरवाही होंगी तो बुटी पब्लिक स्कुल के मैनेजमेंट पर हो सकती कार्रवाही।


नागपुर: एक बार फिर मासूम बच्ची के साथ स्कूल बस कंडक्टर के द्वारा यौन उत्पीड़न किए जाने का मामला सामने आया है। यह मामला नागपुर शहर के कलमना थानांतर्गत हुआ। शुक्रवार को हुए इस मामले के सामने आते ही इलाके में कुछ समय के लिए तनाव का माहौल भी बन गया था, जिसे पुलिस ने समय रहते शांत करा दिया। इस बीच पुलिस ने कार्रवाई करते हुए मामला दर्ज कर आरोपी कंडक्टर को गिरफ्तार भी कर लिया।

जानकारी के अनुसार आरोपी स्कूल  बस कंडक्टर आकाश अरूण माचुरकर 26 वर्ष कामना नगर निवासी है। आकाश निजी बुटी पब्लिक स्कुल बस में कंडक्टर है। शुक्रवार की सुबह करीब 9.15 बजे के दौरान वह अपनी बस से बच्चों को स्कूल ले गया था और दोपहर एक बजे बच्चों को स्कूल से घर छोड़ दिया। इस बीच आवागमन के दौरान आकाश ने एक तीन वर्षीय मासूम बालिका को अपने पास में बिठाया और उसको यौन उत्पीड़न किया।

घर जाने के बाद बालिका ने अपनी मां को घटना की पूरी जानकारी दी। इसके बाद परिजनों द्वारा मासूम बच्ची को डॉक्टर के पास ले जाया गया। डॉक्टर ने भी यौन उत्पीड़न की पुष्टी की। इससे मामला थाने जा पहुंचा। इससे कुछ समय के लिए तनाव का माहौल भी बना रहा था। इस बीच मामला दर्ज कर आरोपी कंडक्टर आकाश को गिरफ्तार कर लिया गया। फिलहाल मामले में पुलिस जांच जारी है।

कलमना पुलिस के थानेदार कौशल तिजारे

कलमना पुलिस के थानेदार कौशल तिजारे ने बताया की मामला सवेंदीलशील था। मामले की गंभीरता को देखते हुवे हमने धारा 376 (२)(आय ),354 (अ )(1 ) सब धारा 4 ,8 पोक्सो ऑक्ट के तहत मामला दर्ज कर कंडक्टर को गिरफ्तार किया है। साथ ही यह बस बुटीक पब्लिक स्कुल की है क्या ? इनका कॉन्ट्रैक्ट था या नहीं , इसकी जांच करना शुरू है। जाँच में यदि किसी की भी लापरवाही या अपराध में शामिल होने की जानकारी यदि पुलिस को मिली तो हम उनपर भी कारवाई करेंगे।


सूत्रों के अनुसार  बुटी पब्लिक स्कुल के मैनेजमेंट पर स्कुल में पढ़ रहे बच्चियों के परिजन कई सवाल उठा रहे है।

परिजन इस तरह के घटना से चिंतित हो रहे है।

परिजनों का कहना है की बुटी पब्लिक स्कुल की यह जिम्मेवारी है की उन्होंन्हे हर बस में सीसीटीवी कैमरे लगाने चाहिए। सेक्युरिटी यह तगड़ी होनी चाहिये। इस तरह के मामले में सम्बंधित स्कुल ने यदि लापरवाही दिखाई होंगी तो उनपर भी सख्त कारवाई होनी चाहिए।