Published On : Fri, Oct 12th, 2018

दिसंबर 2019 तक मेट्रो का काम हो जायेगा पूरा बशर्ते अन्य विभाग दे सहयोग – ब्रजेश दीक्षित

नागपुर : माझी मेट्रो द्वारा दिसंबर 2019 तक परियोजना का काम पूरा कर लिए जाने का दावा अब भी किया जा रहा है। लेकिन पहली बार इस काम को पूरा करने में आने वाली दिक्कतो पर मेट्रो के एमडी ब्रजेश दीक्षित ने खुलकर बात की। शुक्रवार को पत्रकारों से चर्चा में दीक्षित ने बताय कि परियोजना का काम तय समय पर पूरा हो जायेगा बशर्ते अन्य विभाग दे सहयोग दे। परियोजना के विस्तार में आ रही दिक्कतों की चर्चा करते हुए उन्होंने कहाँ मेट्रो की राह में कई रोड़े है। जिनमे प्रमुख तौर से ट्रैफिक,एनएचआई और रेलवे से जुड़े हुए है।

सदर रोड पर एनएचआई द्वारा सड़क और डबलडेकर ब्रिज बनाने का काम शुरू है जिसकी गति मेट्रो के काम को प्रभावित करेगी इसी मार्ग पर मेट्रो रेलवे के ब्रिज से होकर गुजरेगी जिसके लिए अब तक मेट्रो को इजाज़त नहीं मिली है। नागपुर में ट्रैफिक की समस्या के बीच काम करना मुश्किल भरा है। खास तौर से गड्डीगोदाम चौक में स्थिति और अधिक चुनौतीपूर्ण है। परेशानियों का जिक्र करते हुए दीक्षित परियोजना के लिए तय समय के लक्ष्य के दौरान काम करने की आशा व्यक्त की है।


शुक्रवार को रीच 1 के मार्ग पर लगाए जाने वाले वाय डक के आखरी सेगमेंट को निर्माण के लिए भेजा गया। इसी दौरान मेट्रो के एमडी मीडिया से चर्चा कर रहे थे। रीच 1 में अब तक 3414 सेगमेंट स्थापित किये जा चुके है अंतिम सेगमेंट को शुक्रवार को निर्माण के लिए भेजा गया। दीक्षित के मुताबिक मेट्रो का काम तेज गति से हो रहा है। आखरी सेगमेंट को निर्माण के लिए भेजा जाना यह बताता है की काम की गति बेहतर है।

इसके बाद पियर और गर्डर का काम शुरू होगा। मौजूदा समय में बिना रुके थके काम हो रहा है लगभग साढ़े छह हजार पांच सौ नौ कर्मचारी इसमें योगदान दे रहे है। इसके अलावा अधिकारी और कर्मचारियों का मैनपावर भी लगा है। प्रेस

कॉन्फ्रेंस की मुख्य बातें

-दीक्षाभूमि के सामने बन रही मेट्रो की प्रसाशकीय ईमारत दो माह में बनकर तैयार हो जाएगी।

-रीच 1 हिंगना से मुंजे चौक,रीच 3 खापरी से बर्डी लगभग 24 किलोमीटर का रूट मार्च 2019 तक पूरा हो जायेगा।

– रीच 1 और 2 के सभी स्टेशन भी 2019 तक बनकर तैयार हो जायेगे।

-अब तक 4 हजार 500 करोड़ रूपए खर्च हुए।

– अब तक परियोजना का 70 फीसदी कार्य पूरा हो चुका है।