Published On : Thu, May 2nd, 2019

बॉबी सरदार माकन हत्याकांड : 48 घंटों में हो सकता है खुलासा, नागपुर क्राईम ब्रांच के हात लगे कई पुख्ता सुराग

नागपुर शहर के चर्चित बॉबी सरदार माकन हत्याकांड के एक हफ्ता बितने के बाद भी आरोपी पुलिस के हात नहीं लगे हैं. लेकिन विश्वसनीय सूत्रों के अनुसार जानकारी मिली है कि जिस इनोवा कार में बॉबी सरदार को किडनैप किया गया और उसकी हत्या की गई. वह इनोवा कार पुलिस ने बरामद की है. कार मालिक से भी पूछताछ जारी है. जिस व्यक्ति ने कार लेकर गया था वह शक के घेरे में है. फिलहाल संदिग्ध व्यक्ति पिछले तीन दिन से घर नहीं पहुँचा है और उसका फोन भी स्वीच ऑफ बताया जा रहा है. क्राईंम ब्रांच का दस्ता हत्या को सुलझाने में लगा है. पुलिस ने सारे संदिग्ध अपराधियों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है. साथ ही सायबर सेल की भी मदद ली जा रही है. पुलिस अपने खबरियों की भी मदद ले रही है. अब तक यह भी साफ होना बाकी है की हत्या किस चीज से की गई है. घटना में सुपारी देने की आशंका भी व्यक्त की जा रही है. कई सवालों की पहेलियां जल्द ही नागपुर क्राईंम ब्रांच सुलझाने वाली है.

गौरतलब है कि शहर के ट्रांसपोर्ट व्यापारी का शव कोंढाली के जंगल में पाया गया था. करोड़ों की संपत्ति को लेकर उसका कुछ बिल्डरों और कुख्यात बदमाशों से विवाद था. दीक्षित नगर निवासी भूपेंद्र सिंह माकन (46) उर्फ बॉबी सरदार 25 अप्रैल गुरुवार को जरीपटका क्षेत्र से संदिग्ध स्थिति में गायब हुआ था. दूसरे दिन सुबह करीब आठ बजे के दौरान कोंढाली थाने की हद में काठलाबोडी के जंगल में उसका शव पाया गया है.

प्रापर्टी का भी विवाद
बॉबी के साथ करोड़ों रुपए की प्रापर्टी से जुड़े तीन-चार विवाद हैं. एक मामला बिल्डर मोर्यानी से जुड़ा हुआ है. जो 7-8 वर्ष से अदालत में विचाराधीन है. कुख्यात बदमाश लिटिल सरदार से भी उसका विवाद था. एक शादी में किसी बात को लेकर विवाद खुलकर सामने आया था. पुलिस ने विविध दिशाओें में जांच-पड़ताल की, लेकिन कोई सुराग हाथ नहीं लगा. कोंढाली जाने वाले मार्ग पर टोला नाका लेकर स्मार्ट सिटी और निजी प्रतिष्ठानों में लगे सीसीटीवी कैमरों की पड़ताल की गई है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही बॉबी की मौत से पर्दा उठने की संभावना है.

किसी से बात करते हुए सीसीटीवी में कैद
एक स्थान पर बॉबी कार में किसी से बात करते हुए सीसीटीवी कैमरे में कैद हुआ है. इससे आखिरी समय में बॉबी के साथ उसी के होने का अंदाजा लगाया जा रहा है. किसी करीबी व्यक्ति की मदद से बॉबी को मौत के घाट उतारने का संदेह है. मामले की गंभीरता देखते हुवे समुचा क्राईंम ब्रांच के आलाधिकारी हत्या की गुल्थी सुलझाने बाकी है.