Published On : Wed, Jan 24th, 2018

अवैध कृत के आड़े आना विवेक सिसोदिया को महंगा पड़ा

Advertisement

Viveksingh Sisodiya
नागपुर: कोराडी थानांतर्गत चक्की खापा परिसर में भोसला मिलिट्री स्कूल के निकट कल शाम सिसोदिया परिवार पर गांव के असामाजिक तत्वों की मदद से ग्राम पंचायत सदस्य ठाकरे ने जानलेवा हमला किया. हमले में ठाकरे गुट ने सिसोदिया परिवार के ३ सदस्यों को लहूलुहान कर दिया. तो बचाव करते वक़्त ठाकरे गुट के लोगों को भी मार पड़ी व अंदरूनी जख्म से सामना करना पड़ा.

वहीं कोराडी पुलिस ने मामले की गंभीरता को देखते हुए मामला शांत करने के उद्देश्य से दोनों पक्षों के खिलाफ मामला दर्ज करने की पहल शुरू कर दी. समाचार लिखे जाने तक सिसोदिया परिवार के सदस्यों का कल रात ब्यान दर्ज किया गया और ठाकरे गुट का मेडिकल के बाद ब्यान दर्ज करने की जानकारी दी गई.

सिसोदिया परिवार के विवेक सिसोदिया, जयसिंह सिसोदिया और घटनाक्रम में अपने परिजनों के हितार्थ बीच-बचाव के लिए आये दिग्विजय को भी ठाकरे गुट ने लहूलुहान कर दिया. दूसरी ओर ठाकरे गुट के रत्नाकर ठाकरे और उसके भाई सह उनके गांव के समर्थक सिसोदिया गुट पर हमला करने के चक्कर में घायल हुए.

Advertisement
Advertisement

विवेक सिसोदिया के अनुसार चक्की खापा परिसर में राष्ट्रीय महामार्ग प्राधिकरण के नेतृत्व में आउटर रिंग रोड का निर्माण कार्य जारी हैं.इसका ठेका पुणे के एमईपी कंपनी को दिया गया.सिसोदिया ने निर्माणकार्य में शामिल ट्रक-टिप्पर से निर्माण सामग्री की आवाजाही से धूल-मिटटी से सम्पूर्ण परिसर प्रदूषित हो रहा था. इससे निपटने के लिए सिसोदिया ने एमईपी को दिन में २ बार पानी का छिड़काव आवाजाही के मार्ग में करने की मांग की. जब-जब सिसोदिया सामने दिखे तब-तब एमईपी के संबंधित पानी का छिड़काव करते थे और नहीं दिखने पर वैसा ही छोड़ देते थे.कल सिसोदिया ने सड़क पर पानी का छिड़काव न करने से निर्माण करने वाली कंपनी का कंक्रीट मिलर रोक दिया था. इसके बाद वे कंपनी के अधिकारियों से चर्चा कर ही रहे थे कि अचानक रत्नाकर ठाकरे और तय रणनीत के तहत साथ आये लोगों ने सिसोदिया पर जानलेवा हमला कर दिया.

सिसोदिया के अनुसार कृषि विभाग द्वारा भेजा जाने वाला पानी भी चक्की खापा के रत्नाकर ठाकरे बिल्डर और सड़क निर्माण करने वाली कंपनी को बेच रही हैं. इसकी शिकायत सिसोदिया ने कृषि विभाग से की थी तो कल ही कृषि विभाग की टीम जाँच कर गई.

सिसोदिया आसपास के चक्की खापा, भारतवाड़ा आदि क्षेत्र की खनिज सम्पदा के अवैध रूप से दोहन में पिछले कई वर्षो से गांव वाले, ठेकेदार, ट्रांसपोर्टरों सह सफेदपोशों के आड़े आ रहे थे, इससे ठाकरे सह अन्य वैसे ही तिलमिलाए हुए थे. सिसोदिया चक्की खापा परिसर में कोई भी अवैध कार्य को नज़रअंदाज नहीं किये इसलिए लाभार्थी गांव वाले आदि सिसोदिया से खुन्नस पाल रखे थे. जबकि सिसोदिया की वजह से जिला प्रशासन की आसपास की खनिज संपदा सह रेलवे की संपत्ति का बचाव हो रहा हैं, भोसला मिलिट्री स्कूल प्रशासन ने दी गई जगह से कहीं ज्यादा जगह कब्जे में लेकर पहाड़ी के पहाड़ी खोद डाली. जिस पर सिर्फ सिसोदिया ने ही आक्षेप लेकर जिला प्रशासन से उचित कार्रवाई की मांग की. इस सकारात्मक कृत पर पुलिस प्रशासन ने गंभीर दखल लेकर अवैध कृतकर्ताओं पर कानूनन कार्रवाई करनी चाहिए.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement