Published On : Wed, Oct 3rd, 2018

भाजपा की दांडी यात्रा में गांधी कुएं की उपेक्षा, कांग्रसी कार्यकर्ताओं ने मनाई जयंती

नागपुर: सन १९३३ में जिस समय देश में छूत और अछूत की प्रक्रिया चल रही थी ऐसे समय बहुजन की बस्ती बारासिंगल बोरकर नगर में महात्मा गांधी जी ने अपने हाथों से कुएं का पानी पीकर छूत अछूत के भेद को मिटाया था. भाजपा की ओर से विदर्भ भर में दांडी यात्रा का आयोजन किया गया था, लेकिन दांडी यात्रा में गांधी कुआँ शामिल न किए जाने को कांग्रेस ने आड़े हाथों लिया है.

ग़ौर करनेवाली बात यह रही कि मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व में निकाली गई दांडी यात्रा यहां से नहीं गुज़री, जबकि गांधी कुँआ मुख्यमंत्री के ही निर्वाचन क्षेत्र में आता है.

मुख्यमंत्री का ध्यान आकर्षित करने के लिए युवा कांग्रेस के दक्षिण पश्चिम अध्यक्ष मंगेश बढेल के नेतृत्व और बंटी शेलके के मार्गदर्शन में महात्मा गांधी जी के १५० वीं जयंती के उपलक्ष्य में महात्मा गांधी कुआं गांधी जी के प्रतिमा को माल्यार्पण किया गया. इस कार्यक्रम में उपस्थित पूर्व विधायक भोला बढेल, गणेश शिरडे, शैलेश बढेल, निककी सरवरी, रिषिन तांबे, कालू डकहा आदि लोग उपस्थित थे.