Published On : Mon, Jan 29th, 2018

बीजेपी ने पार्टी अनुशाषन तोड़ने के आरोप में 42 नगरसेवकों को थमाया नोटिस

BJP

Representational Pic

नागपुर: पार्टी के विभिन्न आयोजनों और बैठकों में अनुपस्थित रहने वाले 42 नगरसेवकों को बीजेपी ने कारण बताओं नोटिस जारी किया गया है। पार्टी अनुशाषन को लगातार तोड़ने के आरोप के चलते यह नोटिस जारी किये गए है। गौरतलब हो की बीते कुछ वक्त से कुछ असंतुष्ट नगरसेवक लगातार पार्टी से दुरी बनाने हुए थे। इन नगरसेवकों ने पार्टी के सक्रिय कार्यक्रमों, बैठकों या अपने प्रभाग में जनता की समस्याओं को ज्यादा तवज्जों नहीं दे रहे थे। नगरसेवकों के इस रुख के चलते बड़ा असर केंद्र और राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं के प्रचार-प्रसार में हो रहा था। इस बात की जानकारी संगठन को भी थी। महानगर पालिका में पदाधिकारियों के माध्यम से नगरसेवकों के रुख में बदलाव करवाने का प्रयास किया गया लेकिन इसमें कोई ठोस सफलता हाँथ नहीं लगी। जिन नगरसेवकों को नोटिस जारी किया गया है उनमे से कई तो संगठन के माध्यम से आने वाले जनता के कामों को भी नजरअंदाज कर देते थे। इसलिए संगठन के निर्देश के बाद ही इन नगरसेवकों को कारण बताओं नोटिस जारी किया गया है।

महानगर पालिका चुनाव में 151 सीटों में से बीजेपी को 108 सीट हासिल हुई जिस वजह से पार्टी ने मनपा में लगातार तीसरी बार सत्ता स्थापित की लेकिन बीते दिनों पार्टी को मजबूर करने और नगरसेवकों को पार्टी से जोड़े रखने के लिए सभी नगरसेवकों से इस्तीफ़े लिए गए। पार्टी में यह परंपरा भले ही बीते तीस वर्षो से लगातार चली आ रही हो लेकिन पहली बार और दूसरी पार्टी से आकर नगरसेवक बने कार्यकर्ताओं ने इस पर अपनी आपत्ति दर्ज कराई थी। इन नगरसेवकों के इस रुख से पार्टी के निष्ठावान कार्यकर्त्ता और नगरसेवकों में भारी नाराजगी है। मुख्यमंत्री के शहर में पार्टी को भविष्य में असंतोष का सामना न करना पड़े इसलिए एहतियातन इस तरह के प्रयास के माध्यम से पार्टी नगरसेवकों पर लगाम लगाना चाहती है।

पार्टी के 42 नगरसेवकों को नोटिस दिए जाने की जानकारी पर नेता सत्तापक्ष संदीप जोशी ने भी मोहर लगाई। उनके मुताबिक लगातार बैठकों में अनुपस्थित रहना अनुशाषन के ख़िलाफ़ है इसलिए नोटिस जारी किये गए है।