Published On : Thu, Nov 3rd, 2016

पूर्व सैनिक के परिवार को अपमानित कर बीजेपी ने सार्वजनिक की अपनी लोकतंत्र की सोच : मुत्तेमवार

vilas-muttemwar

नागपुर : दिल्ली पुलिस द्वारा राहुल गाँधी को गिरफ्तार किये जाने की घटना का नागपुर शहर काँग्रेस ने निषेध किया। पार्टी के शहर कार्यालय देवेडिया भवन में पूर्व सांसद और केंद्रीय मंत्री विलास मुत्तेमवार की अध्यक्षता में आयोजित निषेद सभा में पार्टी के उपाध्यक्ष के साथ किये गए सुलूख पर पार्टी ने अपना विरोध जाहिर किया। इस दौरान कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए विलास मुत्तेमवार ने कहाँ कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देश और सरकार लोकतंत्र को धता बताते हुए काम कर कर रही है। जनता के चुना हुआ प्रतिनिधी, एक राज्य का मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री किसी के प्रति संवेदना व्यक्त करने जाये तो उसे गिरफ्तार कर लिए जाने की घटना आज से पहले कभी नहीं हुई। सरकार जो कृत्य कर रही है उससे साफ पता चलता है कि इनका लोकतंत्र में विश्वाश नहीं है ये लोग तनाशाही के रास्ते को अख्तियार कर लोकतंत्र का गला घोट रहे है।

देश की सरकार के खिलाफ बयान देते हुए पूर्व सैनिक रामकिशन ग्रेवाल ने आत्महत्या कर ली। वह वन रैंक वन पेंशन की माँग कर रहा था। चुनाव से पहले मोदी ने ही यह वादा निभाने का आश्वासन दिया था। सरकार की विफलता से एक सैनिक मौत को गले लगा ले आप उसके बेटे को उसके परिवार को शव के पास न जाने दे उसे गिरफ्तार कर ले और जो अपनी संवेदना प्रगट करने जाये उसे भी गिरफ्तार कर ले ऐसा लोकतंत्र देश पहली बार देख रहा है। यह बीजेपी की राजनीति का तरीका है।

सभा में अपनी बात रखते हुए पार्टी के युवा नेता विशाल मुत्तेमवार ने कहाँ कि पूर्व सैनिक के परिवार से पुलिस द्वारा बर्बरता दिखाने की घटना कभी नहीं हुई। यह सरकार के असंवेदनशील रवैय्ये को सामने लाता है। पुलिस सैनिक के बेटे को गिरफ्तार कर उसके साथ मारपीट करती है। आखिर यह बर्ताव देश के सैनिको के प्रति क्या संदेश देगा। भारतीय जनता पार्टी खुद को राष्ट्रवादी पार्टी कहती है सैनिको के सम्मान पर खुद प्रधानमंत्री कसीदे पढ़ते है। इस घटना ने बता दिया की बीजेपी सैनिको के प्रति कौनसा भाव रखती है। वही पार्टी नेता और कार्यकर्ताओ को संबोधित करते हुए शहराध्यक्ष विकास ठाकरे ने पूर्व सैनिक और नेताओ द्वारा किये गए पुलिसिया व्यवहार को बर्बरता करार दिया।

muttemwar
ठाकरे के मुताबिक किसी भी सूरत में यह माहौल बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। नै दिल्ली में जो हुआ वह बीजेपी के चरित्र को साफ करता है। सैनिको सम्मान और बीजेपी से लड़ाई लड़ने के लिए काँग्रेस के कार्यकर्ताओं को एकसाथ आकर अपनी आवाज बुलंद करने की जरुरत है। भाजपा के नेता किसी तक जा सकते है हमें सचेत रहने की जरुरत है। नागपुर में काँग्रेसी कार्यकर्त्ता को किसी ने बिना किसी वजह से हाँथ लगाया तो उसकी खैर नही। हमें सचेत रहकर नेटवर्क बनाकर काम करने की जरुरत है।