Published On : Wed, Mar 14th, 2018

उपचुनाव में हार के बाद टेंशन में भाजपा, 2019 में शिवसेना की शरण में जाने की तैयारी

Advertisement


मुंबई: उत्तर प्रदेश में गोरखपुर व फूलपुर लोकसभा उपचुनाव के नतीजे आने के बाद महाराष्ट्र में भाजपा एक बार फिर शिवसेना की शरण में जाने की तैयारी में है।

बुधवार को विधानसभा में वित्तमंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने दावा किया कि यूपी और बिहार उपचुनाव के नतीजों से विपक्ष को ज्यादा खुश होने की जरूरत नहीं है। उन्होंने दावा किया कि आगामी लोकसभा और विधानसभा चुनाव शिवसेना-भाजपा मिलकर लड़ेंगे।

वित्तमंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने शिवसेना-बीजेपी के बीच बढ़ी कड़वाहट को दरकिनार करते हुए कहा कि जनता के लिए हम एक साथ आएंगे।

Advertisement

वहीं, शिवसेना ने पहले ही घोषणा की है कि वह आगामी चुनाव अकेले अपने दम पर लड़ेगी।

ऐसे में भाजपा-शिवसेना का गठजोड़ कैसे संभव है, यह काल के गर्भ में है। लेकिन, महाराष्ट्र भाजपा के नेता मानते हैं कि आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू के केंद्र सरकार से अलग होने के बाद शिवसेना के साथ मिलकर चुनाव लड़ना आवश्यक हो गया है।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement