Published On : Sat, Jan 10th, 2015

नागपुर : बिस्कुट बना बेटे की मौत का कारण?


मृतक बेटे के अभिभावक तथा परिजनों का आरोप

Bhavesh
नागपुर
। नागपुर जिले के कलमेश्वर तालुका अंतर्गत आनेवाले लोहगड निवासी भावेश मनोहर खंडाते (7) की पारले कंपनी का पारले-जी बिस्कुट खाने से मृत्यू हो गयी. मौत की वजह पारले-जी बिस्कुट ही है. ऐसा आरोप मृतक के अभभावकों समेत परिजनों ने लगाया है. जिससें कलमेश्वर तालुका में हड़कम्प मचा हुआ है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, 6 जनवरी को गांव के पान टपरी से 2 पारले कंपनी के बिस्कुट पैकेट मनोहर खंडाते ने ख़रीदे थे. एक बिस्कुट पैकेट भावेश और उसके छोटे भाई ने ख़त्म किया. वहीं दूसरे दिन सुबह चाय के साथ खाने के लिए दूसरे पैकेट के बिस्कुट दिए. बिस्कुट खाने बाद भावेश का पेट में दर्द होने लगा और उल्टियां शुरू हो गयी. मनोहर खंडाते ने भावेश को तुरंत तिष्टी के ग्रामीण प्राथमिक आरोग्य केंद्र में भर्ती किया. लेकिन हालत गंभीर होने से भावेश को सावनेर के ग्रामीण अस्पताल में भेजा गया. लेकिन वहां से भी उसे नागपुर मेडिकल अस्पताल में रेफर किया गया. मेडिकल के डॉक्टरों ने कीटनाशक जहर खाने से भावेश की तबियत ख़राब हुयी ऐसा कहाँ. इलाज के दौरान रात करीब 9 बजे भावेश की मौत हो गयी.

इस घटना की शिकायत केलवद पुलिस ठाने में दर्ज की गयी है. केलवद पुलिस ने लोहगड जाकर बयान दर्ज किया तथा भादंवि की धारा 5/15, 174 के अनुसार आकस्मिक मृत्यु का मामला दर्ज किया. मृतक के पिता की आर्थिक स्थिती ठीक नहीं है. मजदुरी करके परिवार गुजारा चलता है. परिवार में अब माँ, पत्नी और 2 साल का बेटा है. खेलने की उम्र में बेटे की मौत होने से खंडाते परिवार पर दुःख का पहाड़ गिर पड़ा है. मृतक के रिश्तेदारों के अनुसार बिस्कुट खाने से ही भावेश की मृत्यु हुयी है. पारले-जी बिस्कुट पैकेट में ही जहर था ? या पान टपरी पर ही यह प्रकार घटा है? इसकी जाँच करना पुलिस के लिए आवाहन साबित हो रहा है.