Published On : Tue, Feb 12th, 2019

एमपीएससी में व्यापम से बड़ा घोटाला

प्रदेश युवक कांग्रेस अध्यक्ष तांबे ने सरकार पर लगाया संगीन आरोप

नागपुर: महाराष्ट्र लोकसेवा आयोग (एमपीएससी ) परीक्षा में राज्य सरकार ने सामूहिक कॉपी को प्रोत्साहन दिए जाने की खबर हैं.वर्त्तमान सरकार ने उक्त कृत कर व्यापम से भी बड़ा घोटाला किया हैं,उक्त आरोप महाराष्ट्र प्रदेश युवक कांग्रेस के अध्यक्ष सत्यजीत तांबे ने लगाई।
महाराष्ट्र लोकसेवा आयोग की परीक्षा देने वाले परीक्षार्थियों को परीक्षा का आवेदन भरने के पहले अपनी प्रोफाइल तैयार करनी पड़ती हैं.इसमें मोबाइल क्रमांक भी अंकित करना पड़ता हैं.वर्ष २०१७-१८ से परीक्षार्थियों के मोबाइल क्रमांक का अंतिम अंक के आधार पर परीक्षार्थियों को परीक्षा हेतु सीट क्रमांक दी जाती हैं.

Advertisement

तांबे के अनुसार प्रशासन की इस प्रक्रिया के मद्देनज़र अनेक परीक्षार्थियों ने अपने मोबाइल की आखिरी सीरीज अपनी सुविधानुसार प्रोफाइल में अंकित किया हैं.इससे परीक्षा के दौरान उम्मीदवारों में एक-दूसरे की मदद लेने में आसानी हो गई.क्यूंकि परीक्षार्थियों के उक्त प्रयोग से एक-दूसरे के मददगार परीक्षार्थी परीक्षा के दौरान आगे-पीछे बैठने का अवसर मिल गया.

Advertisement

उक्त प्रक्रिया से एमपीएससी प्रशासन अवगत हैं, इस पर ताम्बे ने प्रशासन से सवाल किया कि उक्त प्रयोग अथवा सुविधा किसके इशारे पर किया गया,इसका खुलासा किया जाये।अर्थात मध्यप्रदेश के व्यापम घोटाले से भी बड़ा घोटाला करने का आरोप तांबे ने सरकार पर मढ़ा हैं.

ताम्बे ने कहा कि सरकार की असक्षमता के कारण मेहनतकश विद्यार्थियों के मेहनत पर सरकार ने पानी फेर दिया।इससे ग्रामीण और आदिवासी इलाके के परीक्षार्थियों पर गहरा असर पड़ा हैं.क्या ग्रामीण और आदिवासी इलाके के परीक्षार्थियों का हुआ नुकसान की जिम्मेदारी फडणवीस सरकार स्वीकार करेंगी ?

तांबे ने फडणवीस सरकार से उक्त प्रकरण की निष्पक्ष जाँच सह कड़क कार्रवाई करने के साथ ही साथ लिए गए परीक्षा को रद्द करने की मांग की.समय रहते सरकार ने उक्त मामलात को गंभीरता से नहीं लिया तो तांबे ने न्यायालय जाने की चेतावनी दी.

Advertisement

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement