Published On : Sat, May 26th, 2018

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के प्रयत्नों से मरीजों को मिला डायलसिसिस का लाभ – डॉ. समीर चौबे


नागपुर: विकासशील लोग सामान्यत उत्साही व जोश से भरे होते है. वह जल्द निर्णय लेते है. उनमें काम करने की जिज्ञासा होती है. उनमे जिम्मेदारी संभालने की तैयारी रहती है. कितनी भी खराब स्थिति में भी ऐसे लोग डगमगाते नहीं है. दुसरो की मदद करना और निस्वार्थ दुसरो की मदद करते रहना. कितनी भी परेशानी आने पर अपना आशावाद नहीं छोडते है. अर्थात ऐसे ही व्यक्ति नेतृत्व कर सकते है. ऐसे सभी गुणों से परिपूर्ण शहर के सांसद और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ‘ एक रिजल्ट देनेवाले डायनामिक लीडर ‘ है ऐसा कहना है मध्य भारत के प्रसिद्ध किडनी रोग व प्रत्यारोपण विशेषज्ञ डॉ. समीर चौबे का. 27 मई 2018 को नितिन गडकरी का जन्मदिन है. इस अवसर पर उन्होंने सहृदय व समाज के लिए हमेशा चिंतनशील, कृतिशील व्यक्तिमत्व के धनी नितिन गडकरी की कार्य पर प्रकाश डाला है.

डॉ. समीर का कहना है कि नितिन गडकरी के बारे में सभी को पता है कि वे एक राजनीतिज्ञ है. लेकिन गडकरी यह राजनीती में रहकर भी समाजकार्य करनेवाले नेता है. दूसरों को होनेवाली पीड़ा का दुःख खुद जानकर दुसरो की मदद करते है. केंद्रीय मंत्री होने के बावजूद भी उनके पैर जमींन पर ही है. ख़ास बात है कि ‘ समाज के दिलों से ‘ करुणा’ समाप्त हो चुकी है. लेकिन गडकरी की नहीं. यह उनका बढ़तपण है. गरीबों को वैघकीय सेवा सस्ते दामों में मिले. इसके लिए तत्पर रहते है. गडकरी की कर्तव्यपरायणता देखर उन्हें भी कुछ करने की इच्छा हुई है. आगे डॉ. चौबे ने जानकारी देते हए बताया कि उनसे गडकरी की पहचान शहर की एक स्कुल न्यू इंग्लिश हाईस्कूल के शताब्दी समारोह में हुई थी. इस कार्यक्रम में पूर्व राष्ट्रपति डॉ. ए.पी.जे अब्दुल कलाम और नितिन गडकरी मौजूद थे.

इस कार्यक्रम में पूर्व विद्यार्थी के तौर पर उनके पिता डॉ. बाल स्वरुप चौबे का सत्कार होना था. लेकिन पिता की तबियत खराब थी. डॉ. समीर चौबे ने बताया कि उनके पिता ने उन्हें समारोह में जाकर सत्कार स्वीकारने के लिए भेजा. जिसके बाद पहली बार गडकरी से उनकी मुलाकात हुई. उसके बाद उनके परम स्नेही डॉ. विरल कामदार ने सीधे नितिन गडकरी से पहचान कराकर दी. उस समय डायलिसिस कम पैसो में कैसे किया जाए. इस विषय में नितिन गडकरी सोच रहे थे. उनको लगता था कि केवल 500 रुपए में नागपुर महानगर पालिका इसके लिए पहल करे. इसके बाद गडकरी ने मनपा को जानकारी दी और एक सेंटर रामदासपेठ में शुरू किया गया. लेकिन इसमें मरीजों की संख्या बढ़ नहीं रही थी.

यह संख्या बढ़नी चाहिए ऐसी उनकी मन से इच्छा थी. इसके लिए उन्होंने डॉ. विरल कामदार पर यह जिम्मेदारी सौपी. पंडित दीनदयाल उपाध्याय इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडीकल साइंस रिसर्च एंड ह्यूमन रिसोर्सेस नागपुर के सभी अधिकारी व् पदाधिकारी सभी कम पैसो में डायलिसिस उपलब्ध कराने के लिए प्रयत्नशील थे. उसी दौरान डॉ. समीर ने बताया कि उनकी मुलाक़ात डॉ. विरल कामदार ने नितिन गडकरी से करवाई थी. किडनी रोग और प्रत्यारोपण विशेषज्ञ कहते ही गडकरी ने मेरे भीतर की वेदना समझनेवाले व्यक्ति को पहचाना. उन्होंने मुझसे कहा की डॉ. समीर चौबे आपका नाम मैंने कई बार सुना है. आज प्रत्यक्ष में आपसे मिलने का संयोग आया है. आपके पिता डॉ. बालस्वरूप चौबे मेरे परमस्नेहि थे. अब अपनी पहचान हो चुकी है. निश्चित ही कुछ अच्छा करेंगे. लेकिन डॉक्टर साहब आप पांच सौ रुपए में डायलिसिस कर सकते है क्या. हम आपको मशीन उपलब्ध कराकर देंगे. डॉ. समीर ने तुरंत जवाब दिया हां. और कहा की वे बिलकुल यह काम करेंगे.

गडकरी ने फिर कहा की यह इतना आसान कार्य नहीं है फिर एक बार विचार कर लीजिए. गडकरी की इस बात पर उन्होंने कहा कि सर आप गरीबों के लिए इतना कर रहे है तो मुझे भी समाज का ऋण चुकाने का मौका दे. डॉ. समीर का यह जवाब गडकरी को काफी भाया और उन्होंने तुरंत डायलिसिस मशीन रामदासपेठ स्थित इंद्रायणी हॉस्पिटल में देने की व्यवस्था करिए ऐसा डॉ. विरल कामदार से कहा. उसके बाद डॉ. विरल कामदार ने हॉस्पिटल में जल्द से दो डायलिसिस मशीन उपलब्ध कराई.

Asian Kidney Hospital and Medical Center

डॉ. समीर चौबे ने आगे बताया कि उसके बाद हमारे हॉस्पिटल में 500 रुपये में गुणवत्तापूर्ण डायलिसिस कर रहे है. हर महीने करीब 80 मरीज डायलिसिस का लाभ ले रहे है. डॉ. समीर चौबे ने बताया कि हॉस्पिटल में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के प्रयत्नों से केवल 500 रुपयों में मरीजों को डायलिसिस का लाभ मिलता है और अब तक 5 हजार से ज्यादा मरीजों को डायलिसिस का लाभ मिल चूका है. पंडित दीनदयाल उपाध्याय ट्रस्ट के माध्यम से मरीजों के डायलिसिस किए जा रहे है. आगामी 2 जून से वेस्ट हाईकोर्ट रोड धरमपेठ नागपुर में ही छह मंजिला एशियन किडनी हॉस्पिटल एंड मेडिकल सेंटर की शुरुवात होने जा रही है.

एशियन किडनी हॉस्पिटल एंड मेडीकल सेंटर
213,वेस्ट हाईकोर्ट रोड, धरमपेठ, नागपुर – 10
हेल्पलाइन -9975015673, 0712- 2436870