Published On : Fri, Sep 27th, 2019

नागपुर में चुनाव की तैयारियां शुरू, चुनाव विभाग के पास वाहनों की कमी

Advertisement

नागपुर: विधानसभा चुनाव की तैयारीया जोरों पर है. आनेवाले 21 अक्टूबर को जिले के 12 विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होने है. इस चुनाव के लिए 1610 वाहनों की आवश्कयता होगी. लेकिन विभिन्न विभागों की ओर से वाहन देने के लिए टालमटोल किया जा रहा है. अब तक चुनाव विभाग के पास केवल 200 वाहन ही विभिन्न विभागों की ओर से जमा किए गए है. निवेदन करने के बावजूद भी वाहन देने के लिए टालमटोल करनेवाले अधिकारियो पर कार्रवाई करने की तैयारी भी चुनाव विभाग की ओर से किए जाने की जानकारी सामने आयी है. चुनाव के दौरान होनेवाले प्रचार सभाओ पर ध्यान देने के लिए और अन्य कामों के लिए चुनाव विभाग को 1610 वाहनों की जरुरत है. इसमें जीप, बस, ट्रक, एम्बुलेंस, अग्निशमन के वाहनों का समावेश है. इसमें से कुछ वाहन किराए से लेने के साथ ही कुछ वाहन शासकीय विभाग की ओर से लिए जाएंगे. अनेको शासकीय विभागों के प्रमुखों को कई बार पत्रव्यवहार और फोन करने के बाद भी उनकी ओर से टालमटोल किया जा रहा है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सार्वजानिक बांधकाम विभाग, वनविभाग के लगभग 100 बड़े अधिकारियो ने वाहन देने के लिए टालमटोल करने के कारण उनके वाहन जब्ती की कार्रवाई की गई है. इस दौरान इन अधिकारियो के वाहन बीच सड़क पर जब्त किए गए और उसी जगह पर उन्हें गाडी से बाहर निकालकर चुनाव विभाग ने वाहन अपने कब्जे में लिए है.

राष्ट्रीय कामो के लिए वाहन देने के लिए अब प्रशासन ने अनुशासनत्मक कार्रवाई करने की प्रक्रिया शुरू करने की जानकारी सामने आयी है. वाहन देने के लिए टालमटोल करने के कारण जब्ती की कार्रवाई चुनाव विभाग ने शुरू ही है. अब जिन विभागों की ओर से अब तक वाहन नहीं दिए गए है. उन्हें जल्द ही चुनाव प्रशासन के विभाग के पास वाहन जमा करने की सुचना भी दी गई है. जिला चुनाव विभाग ने वाहन जब्ती के लिए जिले में 6 पथक तैयार किए है और इसमें ट्रैफिक पुलिस, आरटीओ और पुलिस कर्मचारियों का समावेश है.

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement