Published On : Mon, Jan 22nd, 2018

मुझ पर आरोप लगाने से पहले अपने गिरेबान में झाँके अजित पवार – ऊर्जा मंत्री


नागपुर: राज्य के ऊर्जा मंत्री चंदशेखर बावनकुले पूर्व उपमुख्यमंत्री अजित पवार के निशाने पर है। इन दिनों राज्य का दौरा कर रहे पवार किसानो की बिजली कनेक्शन काँटे जाने के विरोध में ऊर्जामंत्री पर अपना गुस्सा उतार रहे है। एक जगह सभा के दौरान पवार ने यहाँ तक कह दिया की कनेक्शन कांटने की कार्रवाई इसी तरह जारी रही तो वह ऊर्जा मंत्री का राज्य में कहीं आना-जाना दूभर कर देंगे। पवार के आरोपों का जवाब देते हुए ऊर्जा मंत्री बावनकुले ने कहाँ है की मुझ पर आरोप लगाने से पहले पवार अपने गिरेबान में झाँक कर देख ले। उनके समय में ट्रांसफार्मर समेत लाखों किसानों की बिजली काँट दी गई थी। पवार का मुझ पर आरोप लगाना राजनितिक स्टंट है।

ऊर्जा मंत्री के मुताबिक उनकी सरकार 6 रूपए प्रति यूनिट की बिजली किसानों को एक रूपए में उपलब्ध करा रहे है। जिसका पैसा सरकार खुद अपनी जेब से दे रही है। बिजली ग्राहक तक पहुँचाने के लिए खरीदनी पड़ती है। लगातार बिल का भुगतान न होने की वजह से बिजली वितरक कंपनी को लगातार नुकसान हो रहा है। हमारी सरकार ने किसानों मौका दिया है की 3 और पांच हजार रूपए भरकर अपना कनेक्शन नियमित करा ले।

बिजली की दर बढ़ाने की माँग लेकिन फैसला नहीं हुआ
राज्य में बिजली के दाम बढ़ने की चर्चा के बीच ऊर्जा मंत्री ने साफ किया है की बिजली के दाम बढ़ाये जाने की माँग की गई है लेकिन अब तक उस पर कोई फैसला नहीं लिया गया है। एमएसइडीसीएल ( महाराष्ट्र स्टेस्ट इलेट्रीसिटी डिस्ट्रीब्यूशन कॉर्पोरेशन लिमिटेड ) की तरफ बिजली बिल की दर निर्धारित करने वाली संस्था एमइआरएल ( महाराष्ट्र इलेक्ट्रिसिटी रेगुलेशन कॉर्पोरेशन) के पास इस तरह का प्रस्ताव आया है लेकिन अब तक इस पर कोई फैसला नहीं लिया गया है।