Published On : Tue, Jul 10th, 2018

1 रुपया फसल बीमा देकर बीमा कंपनी और सरकारने ने उड़ाया बीड के किसान का मजाक…

नागपुर: खबर है महाराष्ट्र के बीड जिले से. जहाँ किसान के बैंक खाते में फसल बीमा के रूप में 1 रुपया जमा किए जाने का मामला सामने आया है. देश की सरकार किसान के नाम पर चुनाव जीत के आई है. वहीं दूसरी ओर किसानों के साथ बड़ा अन्याय हो रहा है.प्रधानमंत्री बीमा योजना के तहत, बीड जिले के लाखों किसानों ने अपने फसल का , करोड़ों रुपए का बीमा प्रीमियम युनायटेड इन्श्योरेंस कंपनी का जमा किया था. यही वजह है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने

बीड के जिलाधिकारी का दिल्ली में सत्कार किया था. लेकीन हैरत का ठिकाना तब न रहा जब बीमा प्रीमियम भरने में देश में 1 नंबर रहे बीड जिले के किसान के खाते में फसल बीमा के रूप में 1 रुपया डाला है. यही वजह है कि बीमा कंम्पनी के इस बर्ताव को किसान के साथ भिखारी जैसे व्यवहार के तौर पर देखा दा रहा है. मामला सामने आने पर महाराष्ट्र और केंद्र सरकार चुप्पी साधे हुए है.

बीड जिले के कुल 3 लाख 38 हजार 367 किसानों ने अपने फसल का 13 करोड 13 लाख रुपए का बीमा प्रीमियम युनायटेड इन्श्योरेंस कंपनी को दिया था.

जिला मध्यवर्ती बँक नांदूरघाट शाखा के 663 किसानों के खाते में 1 रुपया आया है. 187 किसानों के खाते में 2 रुपए, 25 किसान को 3 रुपए, 12 किसानों 4 रुपए, 26 किसान को 5 रुपए, अंमलनेर शाखा में 957 किसान को 100 रुपए का बीमा मिला है. धामणगांव शाखा में 1420 किसान को 1 ते 10 रुपए फसल बीमा मिला है. बीड शहर के बालेपीर शाखा में 577 किसानों को 100 रुपए के भीतर बीमा मिला है.

बीड जिले के केज तहसील के वाघेबाबूलगांव के किसान हरिदास सोनके ने जिला मध्यवर्ती बैंक के नांदूरघाट शाखा में 735 रुपए का फसल बीमा प्रीमियम भरा था. हरिदास की खेती ज्यादा उपजाऊ नहीं है, इसलिए फसल भी कम मात्रा में आती है. आप तस्वीरों में देख सकते हैं. जिस खेती में उसने फसल लगाई थी वह खेती हरिदास सोनके की बेटी 12 वीं कक्षा में पढ़ती है और पिताजी हमेशा बिमार रहते हैं. इसलिए उनके सामने बड़ी परेशानी खड़ी है.

By Narendra Puri