Published On : Thu, Sep 18th, 2014

कोराडी : नवरात्र महोत्सव की तैयारी के लिए वि. बावनकुले की पत्रपरिषद


कोराडी (नागपुर)

Vidhayak Chandrashekhar Bawankule
जगदंबा माता यह जागृत देवस्थान होने से प्रत्येक नवरात्र में बड़ी संख्या में भाविक दर्शन के लिए आते है. इस वर्ष करीब 20 लाख यात्री और भाविक आनेकी संभावना है.

सीसीटीव्ही कैमरे और लाइव चित्रीकरण
वि. चंद्रशेखर बावनकुले तथा श्री महालक्ष्मी जगदंबा संस्थान के अध्यक्ष ने कुछ भरोसेमंद सदस्यों के साथ मंदिर सभागृह में पत्रपरिषद ली गयी. इसदौरान उन्होंने कहा की, नवरात्र में कड़क पुलिस बंदोबस्त किया जायेगा. मंदिर व्यवस्थापन की ओर से 8 ऊँचे हाइमास्ट लाइट, 10 टेम्पररी टॉवर, 48 सीसीटीव्ही कैमरे यहाँ लगाएं जायेंगे. हनुमान मंदिर, राममंदिर और संपूर्ण देवीमंदिर परिसर में सजावट और रोशनाई की जाएँगी, नांदा-कोराडी से खापरखेड़ा रोड हाइवे पर 10 दिन के लिए बैरिकेट्स भक्तगणों के आनेजाने के लिए लगाये जायेंगे. मंदिर के अंडरग्राउंड परिसर से माइक की व्यवस्था की गयी है जिससें देढ किमी परिसर के नागरिक माता की आरती और महत्वपूर्ण सूचना सुन पाएंगे. नवरात्र के संपूर्ण 10 दिन तक माता का चित्रीकरण यु.सी.एन टीव्ही 461 इस चैनल पर प्रसारित किया जायेगा. ग्रामीण क्षेत्र की जनता श्रद्धा यु.सी.एन चैनल पर देख पाएंगे. यु.सी.एन ओर से जबलपुर,इंदौर,भोपाल,पांढुर्णा,संपुर्ण विदर्भ,गडचिरोली क्षेत्र के नागरिक टीव्ही माध्यम से माता का दर्शन करेंगे.

भक्तगणों के लिए अन्न दान और अन्य सुविधा
खापरखेड़ा गेट और कोराडी गेट पर टु व्हिलर और फोर व्हिलर गाडियों की पार्किंग व्यवस्था रहेगी, मंदिर परिसर की सजावट,अंदर और बाहर की रोशनाई इंदौर के कलाकारों द्वारा की जाएंगी. कोराडी मंदिर के ज्योति भवन के लिए 6000 पासेस दिए जायेंगे. आजीवन सदस्यता के लिए धर्मशाला की ओर से पासेस दिए जायेंगे लेकिन आजीवन सदस्यों ने अपनी पास पेटी में जमा करनी होंगी. अपना आजीवन सदस्य क्रमांक दर्ज करके रखना होगा, सदस्यों के लिए विशेष व्यवस्था संस्थान कमिटी करेगी. बिल्डिंग में नवरात्र में प्रसाद वितरण और सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन करने के लिए बिल्डिंग नागरिकों लिए खुली की जाएगी. मंदिर परिसर में चारों ओर दुकानदारों का अतिक्रमण था. ग्रापं सरपंच बापु बिरखेड़े के प्रयत्न से हटाया गया उसके लिए वि. बावनकुले ने उनका अभिनंदन किया. श्री महालक्ष्मी जगदंबा माता परिसर में भाविक एवं भक्तगणों के लिए विशाल वॉटरप्रूप पेन्डाल डाला जायेगा. भाविकों के लिए मुलभुत सुविधा,पानी पाउच बांटे जाएंगे. नांदा से देवी मंदिर परिसर के 500 मीटर रोड की मरम्मत एलएण्डटी कंपनी करेंगी. देवीमंदिर तक मार्ग का कॉन्ट्रैक्ट भुतराज कंपनी के पास है. मंदिर परिसर में 60 सुरक्षा गार्ड तैनात रहेंगे, उनकी ड्युटी दो शिफ्ट में 30 दिन और 30 रात रहेगी.

लगाया जायेगा मेटल डिटेक्टर
संदिग्ध नागरिकों की जाँच के लिए पुणे की कंपनी मेटल डिटेक्टर यंत्र लगाएंगी. 150 सेवाधारी नागरिक भाविकों द्वारा लाये पूजा के नारियल फोड़ने के लिए और ज्योति का मेंटेनेंस के लिए नियुक्त किये जायेंगे. जो कोई बडे व्यक्ति को अन्नदान करना है उन्हें अन्न सुरक्षा विभाग से प्रमाणपत्र लेना होगा. ज्योति भवन के पोर्च में अन्नदान और प्रसाद बांटा जायेगा. फोड़े हुए नारियल और उसके कवच को एकत्रित करके संस्थान मार्फ़त बनाये गड्ढे में डाला जायेगा जिससे अपारंपारिक ऊर्जा तैयार की जाएगी. मंदिर परिसर में यातायात व्यवस्था,संदिग्ध नागरिक, अपराधी तत्व के लोगों को पर ध्यान रखने लिए 400 पुलिस तैनात किये जायेंगे.

ग्रा पं. कोराडी की ओर से निःशुल्क रंगोली, सिंगाड़ा
मंदिर के सेवाधारी पुजारी,व्यवस्थापन व्यक्ति,व्ही आय पी के वाहन मंदिर परिसर के 100 मीटर में पार्किंग की व्यवस्था की जाएँगी. व्यवस्थापन की ओर से दो बड़े पेन्डाल में एल.ए.डी स्क्रिन लगाई जाएंगी. देवी मंदिर परिसर के हनुमान मंदिर,राममंदिर के रैम्प पर टेम्पररी शॉप में निःशुल्क रंगोली,सिंगाड़ा ग्रा पं. कोराडी की ओर से दिया जायेगा. कोई भी दुकानदार भाविकों से पैसे नहीं लेगा. पार्किंग की जगह पर फ्लैक्स लगाया जायेगा जिस पर पार्किंग रेट लिखें होंगे. इस वर्ष ज्योति भवन में 6000 ज्योत प्रज्वलित की जाएंगी. स्त्री-पुरुष को मंदिर प्रवेश के लिए एक ही गेट से आना होगा और पोर्च से अलग होना पड़ेगा.

मंदिर व्यवस्थापन और पुजारी वाद
27 सालों से मंदिर व्यवस्थापन और पुजारियों के बीच में विवाद होता रहा है. विवाद को मिटाने ने लिए विधायक ने दोनों पक्ष में समन्वय बनाकर 27 सालों से चल रहे विवाद को खत्म करने में यश प्राप्त हुआ है. पो.स्टे कोराडी निरीक्षक महल्ले ने बताया इस वर्ष संपूर्ण मंदिर परिसर में 6 पुलिस निरीक्षक,30 पी.एस.आय, 60 होमगार्ड्स की ड्युटीज लगायी है. चोर, पाकिटमार पर पुलिस सख्ती से ध्यान देंगी. ट्रैफिक व्यवस्था नरेंद्र येवले देखेंगे.

वि. बावनकुले के पत्रपरिषद में केशवराव फुलझेले सचिव, कोषाध्यक्ष बाबुराव भोयर, सहसचिव सुधाकर रेवतकर, नारायण जामदार,दयाराम तङस्कर, प्रेमलाल पटेल,अशोक खानोरकर, एडवोकेट. जी चन्ने और इतर सभी विश्वस्त, कोराडी के सरपंच बापू बिरखेड़े,समाजसेवी संजय जैसवाल,अरविंद खोबे,अशोक बिरखेड़े,संजय कडु, पवन आवले,बबलु सोनारे, शरद मेश्राम आदि और समाजसेवक उपस्थिति थे.