Published On : Wed, Mar 4th, 2015

देेसाईगंज : बैंक मैनेजर ने की आत्महत्या


सरदर्ज की वजह से आत्महत्या : चिट्ठी में उल्लेख

IDBI-Bank-Maeger-Suicide
देसाईगंज (गड़चिरोली)। सावंगी के आयडीबीआय शाखा के बैंक मैनेजर ने अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. आत्महत्या करने से पहले लिखी चिट्ठी में सरदर्ज की वजह से आत्महत्या करने का उल्लेख किया गया है. नागपुर जिले के काटोल निवासी निर्मलेश गणपपतराव बोंदरे (35) मृतक है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार आयडीबीआय बैंक शाखा के मैनेजर निर्मलेश बैंक का काम ख़त्म करके रात तक दोस्तों के साथ अच्छी स्थिति में था. उसे सरदर्द की बिमारी थी. सरदर्ज के लिए दवाईयां भी नियमीत शुरू थी. कई बार सरदर्द से निर्मलेश बैंक में रोता भी था. वहीं कई बार रात में सरदर्द की दवाईयां उसके घर में उसका दोस्त लेजाके देता था. इसी प्रकार कल रात में जबरदस्त सरदर्द होने की शक्यता है. आत्महत्या करने से पहले लिखी चिट्ठी में जोरदार सरदर्द से मुक्ति पाने के लिए मैं अपनी मर्जी से आत्महत्या कर कर रहा हूँ ऐसा निर्मलेश ने उल्लेख किया है. सरदर्ज के बारे में बैंक में भी सबको जानकारी थी. निर्मलेश शहर के गांधी वार्ड में अजय पवार के घर में भाड़े से रहता था. घर की खोेली में पंखे को नाॅयलान दोरी से फांसी लगाकर आत्महत्या की.

निर्मलेश के दोस्त में बताया कि, रात में खाने का डिब्बा पहुंचने तक निर्मलेश काफी अच्छी स्थिति में था. रात में अचानक सरदर्द होने से उसने आत्महत्या की होगी ऐसा संदेह है.

मैनेजर अल्पभाषी लेकिन सहकार्य करनेवाला
निर्मलेश अल्पभाषीय था, लेकिन सहकार्य की भावना उसमें ही थी. शाखा को आर्थीक स्थिरता में लाने के लिए निर्मलेश अतिशय सक्रिय था. सर्व समान्यों की मदद करने के लिए बैंक में हमेशा तत्पर रहता था.

बैंक शाखा को 1 वर्ष
मंगलवार को सावंगी के आयडीबीआय बैंक शाखा शुरू होकर 1 वर्ष हो गया है. वहीं निर्मलेश को भी इस शाखा में बैंक मैनेजर के तौर पर 1 वर्ष पूरा हुआ था. शाखा के स्थापना दिवस पर ही शाखा के बैंक मैनेजर ने आत्महत्या करने से सर्वत्र खलबली मच गई है.