Published On : Sat, Aug 17th, 2019

बाजीराव साखरे ई-लाइब्रेरी के उदघाटन में हंगामा

कांग्रेस विधायक के निधि से निर्मित लाइब्रेरी का उद्घाटन करने पहुंचे भाजपा विधायक

नागपुर: उत्तर नागपुर के विद्यार्थियों के हितार्थ तत्कालीन कांग्रेसी विधायक नितिन राऊत ने अत्याधुनिक ई – लाइब्रेरी का निर्माण विधायक निधि से करवाया लेकिन कंप्यूटर सह पुस्तकें उपलब्ध न होने से यह अधूरा रह गया था। अब जबकि कांग्रेस नगरसेवक संदीप सहारे के गंभीर पहल पर उक्त व्यवस्था बजट के माध्यम से की गई तो आगामी चुनाव को समीप देख वर्तमान भाजपा विधायक मिलिंद माने के हाथों उद्घाटन आज की गई,जिसका सिरे से काँग्रेसी कार्यकर्ताओं ने विरोध किया।

विरोध कर्ताओं की मांग थी कि तत्कालीन कांग्रेसी विधायक राऊत के विधायक निधि से निर्मित लाइब्रेरी के उद्घाटन पत्रिका में उनका नाम होना ही चाहिए था,साथ ही उद्घाटन अवसर पर उन्हें आमंत्रित किया जाना चाहिए था लेकिन मनपा में भाजपा सत्ताधारी होने के कारण भाजपा विधायक को तहरिज दी गई जबकि माने ने रत्ती भर न निधि दी और न ही प्रयास किया। राऊत के कार्यकाल में जब लाइब्रेरी पूर्ण नहीं हो पाई तो उसे शुरू करने के लिए कांग्रेस के वरिष्ठ नगरसेवक संदीप सहारे ने कई दफे आमसभा में आवाज बुलंद की,जिसका नतीजा यह निकला कि गत बजट में मनपा ने इसे शुरू करने हेतु लगने वाली साहित्य खरीदी के लिए 50 लाख रुपये का प्रावधान किया।

कांग्रेसी विरोध के बावजूद भाजपाइयों ने तय रणनीति के तहत विधिवत उद्घाटन किया,इस अवसर पर बड़ी संख्या में भाजपाई कार्यकर्ता,पदाधिकारी,नगरसेवक आदि उपस्थित थे।