Published On : Wed, Mar 3rd, 2021

बिजली केंद्र की राख – केमिकल से कन्हान नदी का पानी हो रहा दूषित

– महाजेनको प्रशासन तथा अधिकारियों की कार्यप्रणाली पर सवाल,महानिर्माती कंपनी ने दिए जांच के आदेश

नागपुर – महाजेनको प्रशासन तथा अधिकारियों की अनदेखी तथा लापरवाही की वजह से कन्हान नदी की हालत दिनों दिन खराब हो रही हैं, खापरखेड़ा बिजली घर का केमिकल तथा राख का गंदा पानी नाले के माध्यम से कन्हान नदी जा रहा है,यह सिलसिला काफी दिनों से शुरू हैं, लेकिन महाजेनको प्रशासन तथा अधिकारियों द्वारा किसी प्रकार का कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है, राख तथा केमिकल के गंदे पानी की वजह से कन्हान नदी का पानी दूषित हो रहा है.

बताया जाता हैं कि, बिजली घर से प्रत्येक दिन करीब हजारों टन राख निकलती हैं,यह राख हवा में मिलकर खुलेआम उड़ती हुई नजर आ रही हैं, राख के प्रदूषण की वहज से पेड़ पौधे सुख रहे हैं,किसानों की खेती नष्ट हो रही हैं तथा लोगों के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ रहा है, उद्योग चलाते समय नियमानुसार प्रदूषण नियंत्रण मंडल की ओर से जारी गाईड लाईन पर अमल करना पड़ता है, प्रदूषण की वजह से पर्यावरण को किसी प्रकार का नुकसान नहीं होना चाहिए, इसका विशेष ध्यान रखना जरूरी है.

प्रदूषण नियंत्रण मंडल की ओर से समय, समय पर समीक्षा की जाती हैं, लेकिन प्रशासन द्वारा किसी प्रकार का नियंत्रण नहीं होने के कारण आज भी खुलेआम प्रदूषण फैल रहा है,प्रदूषण फैलाना यह कानून की नजरों में गंभीर अपराध है, प्रदूषण की वजह से स्थानीय लोगों में भय व चिंता का वातावरण बना हुआ है,प्रदूषण के बारे में एमओडीआई फाउंडेशन द्वारा कई बार महाराष्ट्र प्रदूषण नियंत्रण मंडल तथा खापरखेड़ा बिजली केंद्र के मुख्य अभियंता को शिकायत की गई हैं,लेकिन महाजेनको के अधिकारियों द्वारा ALL IS WELL बताकर गुमराह किया जा रहा है.

आपको बता दें कि,पिछले कई सालों से उप मुख्य अभियंता राजेन्द्र राऊत 500 मेगावॉट बिजली केंद्र के प्रशासक हैं,लेकिन अपनी जिम्मेदारियों से पल्ला झाड़ने का काम रहे हैं,इस बारे में दखल लेते हुए,महाराष्ट्र राज्य विज निर्मिति कंपनी के संचालक तथा सल्लागार, खनिकर्म पुरुषोत्तम जाधव ने महाजेनको के कार्यकारी संचालक चिरुटकर को जांच पड़ताल कर रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिए गये हैं,महानिर्माती द्वारा जांच के आदेश देने के बाद महाजेनको प्रशासन तथा अधिकारियों में खलबली मची हुई हैं.
अब यह देखना है कि,खापरखेड़ा बिजली केंद्र के गैर जिम्मेदार लापरवाह अधिकारियों पर आगे क्या कार्यवाही की जाती हैं,इस पर आम जनता की नजरें लगी हुई हैं.